सामूहिक दुष्कर्म की शिकार नाबालिग को नहीं मिला न्याय, पुलिस ने शव कराया दफन

सामूहिक दुष्कर्म की शिकार नाबालिग को नहीं मिला न्याय, पुलिस ने शव कराया दफन


फर्रुखाबाद। उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले में दिल दहला देने वाली घटना को दबंगों ने अंजाम दिया है। तीन दिन पूर्व यहां नाबालिग बालिका के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया, जिससे उसकी मौत हो गई। गरीबी और दबंगों की दबंगई के आगे लाचार पिता बेटी का शव न्याय की उम्मीद लिए तीन दिन से घर पर रखे रहा। पुलिस ने उसे न्याय की जगह दबंग प्रधान पुत्र के कहने पर शव गांव के बाहर दफनाते हुए कार्रवाई की। घटना से लाचार पिता पूरी तरह आहत है,लेकिन वह दबंगों के भय से अपना मुंह नहीं खोल पा रहा है।

मामला थाना जहानगंज के ग्राम राजेपुर तप्पामण्डल का है। जहां सोना (13) पुत्री रामदीन (दोनों बदले हुए नाम) तीन दिन पूर्व सात अक्टूबर को अपने पिता को खेत में खाना देने गई थी। उसी समय गांव के ही विजय, मनुज, खुशीराम व टिंकू ने उसे पकड़ लिया और उसके साथ सामूहिक रुप से दुष्कर्म किया, जिससे उसकी मौत हो गई। मामले की शिकायत लेकर जब मृतका की मां थाने पहुचीं तो दबंगों ने उसे जान माल की धमकी देकर भगा दिया। घटना का शिकार हुई नाबालिग का पिता खेतिहर मजदूर है। उसने अपनी बेटी के साथ घटी घटना की तहरीर थाने जाकर दी। पुलिस ने भी संवेदनहीनता का परिचय देते हुए लाचार बाप की तहरीर पर कोई सुनवाई नहीं की और घटना की रिपोर्ट नहीं लिखी। प्रधान पुत्र भानू और थाना जहानगंज पुलिस की वजह से गरीब बाप और परिजन अपनी नाबालिग बेटी के शव पर लगातार तीन दिन घर पर रखकर तड़पते रहें, लेकिन उसे न्याय नहीं मिला।

गुरुवार को उसने दबंगों और पुलिस के दबाव में अपनी बिटिया के शव को गांव में ही दफन कर दिया। जिस समय इस गरीब की बेटी का दबाव में शव दफन किया गया, उस समय पूरा समाज मौजूद था। लेकिन दबंगों के आगे किसी ने भी अपना मुंह खोलने की हिम्मत नहीं जुटाई। इस सम्बंध में जब थानाध्यक्ष अंगद सिंह से पूछा गया तो वह घटना के सम्बंध में कोई माकूल जबाव नहीं दे सके, बल्कि यह कह कर कन्नी काट गए कि जांच कराई जाएगी।


Share it
Top