शाहजहांपुर: पदयात्रा पर रोक लगाए जाने से नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पानी की टंकी पर चढ़कर किया प्रदर्शन

शाहजहांपुर: पदयात्रा पर रोक लगाए जाने से नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पानी की टंकी पर चढ़कर किया प्रदर्शन


शाहजहांपुर। स्वामी चिन्मयानंद फिरौती प्रकरण में जेल भेजी गई दुष्कर्म पीड़ित युवती के समर्थन में सोमवार को कांग्रेस पार्टी द्वारा आयोजित पदयात्रा को प्रशासन ने मंजूरी नहीं दी। इसके साथ ही कांग्रेस के दिग्गज नेता जितिन प्रसाद समेत अन्य नेताओं को नजरबंद करते हुए घर के बाहर पुलिस का पहरा बैठा दिया गया। इसके बावजूद विरोध जता रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं व नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और पुलिस लाइन ले जाया गया। इस हंगामे की बीच किसी तरह कुछ कार्यकर्ता पानी की टकी पर चढ़ गए और नारेबाजी शुरू कर दी।

चिन्मयानंद यौन शोषण प्रकरण के बहाने राजनीतिक पार्टियों ने उत्तर प्रदेश सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में कांग्रेस नेतृव के निर्देश पर उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा सोमवार को छात्रा के समर्थन में पदयात्रा का आयोजन किया गया था जोकि शाहजहांपुर से चल कर लखनऊ में समाप्त होनी थी। लेकिन उससे पहले ही जिला प्रशासन ने धारा-144 का हवाला देते हुए पदयात्रा निकालने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था।

पुलिस ने सुबह से ही कांग्रेस के जितिन प्रसाद समेत कई दिग्गज नेताओं के घरों के बाहर पुलिस फोर्स तैनात करते हुए उनको नजरबंद कर दिया था। साथ ही शाहजहांपुर जिला कांग्रेस कार्यालय पर भी कई थानों की फोर्स लगी दी। जिसके बाद कार्यकर्ता सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कांग्रेस कार्यालय के बाहर सड़क पर धरने पर बैठ गए। हालांकि पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को हिरासत में लेकर वाहनों से पुलिस लाइन भेजना शुरू कर दिया।

लेकिन इस हंगामे के बीच, कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी से नाराज कुछ कार्यकर्ता पुलिस से बचते हुए पास में स्थित पानी की टंंकी पर चढ़ गए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया। दूसरी तरफ कार्यकर्ताओं को पानी की टंकी पर चढ़ा देखा पुलिस और प्रशासनिक अफसरों के हाथ पांव फूल गए। जिसके बाद मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है और कार्यकर्ताओं को नीचे उतारने के प्रयास शुरू कर दिए गए हैं।


Share it
Top