मुजफ्फरनगर के रहने वाले सिपाही ने एसएसपी को अपना इस्तीफा सौंपा..कहा,ड्यूटी के चक्कर में परिवार खतरे में

मुजफ्फरनगर के रहने वाले सिपाही ने एसएसपी को अपना इस्तीफा सौंपा..कहा,ड्यूटी के चक्कर में परिवार खतरे में


बरेली। मुजफ्फरनगर जिले के रहने वाले सिपाही ने पारिवारिक कारणों का हवाला देते हुए एसएसपी को अपना इस्तीफा सौंप दिया। पुलिसकर्मियों की छुट्टी और अन्य समस्याओं की सुनवाई कर रहे एसएसपी इस तरह अचानक इस्तीफे से चौंक गए। उन्होंने उसकी समस्या पूछकर निस्तारण का भी आश्वासन दिया, लेकिन सिपाही का मन नहीं बदला। एसएसपी ने पत्र लेकर विभागीय कार्रवाई का आश्वासन दिया तो वह चला गया।

पत्रकारों से बातचीत में उसने अपनी पीड़ा सुनाई। मुजफ्फर नगर के गांव पिन्ना निवासी रवि कुमार ने बताया कि वह यहां काफी समय से पुलिस लाइन में तैनात है। फरवरी 2018 में उसकी शादी हुई। छुट्टी न मिलने और काम की अधिकता की वजह से पत्नी से दूरी बनती चली गई। कुछ महीने बाद ही दोनों ने तलाक का फैसला कर लिया और इसकी लिखापढ़ी शुरू कर दी। पत्नी की शिकायत रहती थी कि वह न तो साथ में वक्त बिता पाता है और न ही कहीं घुमाने ले जाता है। अपने परिवार से भी वो दूर होता चला गया। मानसिक तनाव इस कदर बढ़ा कि डिप्रेशन में रहने लगा। मुजफ्फरनगर के एक डॉक्टर से उसका इलाज चल रहा है। वहां दवा लेने भी समय से नहीं जा पाता है। डिप्रेशन में वो सही काम भी गलत कर जाता है, जिसकी वजह से अधिकारी और सहकर्मी उसे डांटते हैं। बताया कि घर पर साढ़े सात बीघा जमीन है। पिता को समस्या बताई तो उन्होंने सलाह ही कि नौकरी से बड़ी जिंदगी है। घर आ जाओ और खेतीबाड़ी कर लो। रवि का कहना था कि कप्तान साहब तो नए आए हैं। उनसे या किसी अन्य अफसर से उसे कोई दिक्कत नहीं है, वह निजी कारणों से ही नौकरी छोड़ रहा है।

आरआई हरेंद्र सिंह ने बताया कि रवि मुजफ्फरनगर में इलाज कराने जाने को उनसे एक दिन की छुट्टी मांग रहा था। मोहर्रम तक छुट्टी न देने का आदेश है.. ये उसे बताया गया तो वह एसएसपी के पास चला गया होगा। उसका मानसिक चिकित्सक से उपचार चल रहा है। अधिकारी आदेश करेंगे तो उसका स्थानीय स्तर पर बेहतर इलाज कराएंगे। नौकरी छोड़ने का पत्र देने की बात उनकी जानकारी में नहीं है।

Share it
Top