सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में रैगिंग की जांच के लिए डीएम ने बनाई कमेटी

सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में रैगिंग की जांच के लिए डीएम ने बनाई कमेटी



इटावा। सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के गांव सैफई में स्थित मेडिकल यूनिवर्सिटी में जूनियर छात्रों के साथ रैगिंग के मामले में जिलाधिकारी ने दो सदस्यीय जांच कमेटी बनाई है। जांच पूरी होने के बाद दोषी पाए जाने पर सीनियर डॉक्टरों पर कार्यवाही होना तय माना जा रहा है।

बीते मंगलवार को सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के जूनियर छात्रों के साथ रैगिंग की तस्वीरें सामने आने के बाद मेडिकल कॉलेज में हड़कम्प मच गया। तस्वीरों मे देखा जा रहा था कि सीनियर छात्रों द्वारा सैकड़ों जूनियर छात्रों के सिर मुंडवाकर उनसे झुककर सलाम करवाया जा रहा था। रैगिंग के नाम पर सीनियर्स ने जबरदस्ती इनके बाल कटवाकर इन्हें गंजा होने पर मजबूर किया। रैगिंग के शिकार ऐसे दस-बीस स्टूडेंट नहीं हैं बल्कि कम से कम 150 हैं जो रोजाना अपने हॉस्टल से एक लाइन में कदमताल करते हुए कॉलेज में दाखिल हो जाते हैं। पूरा दिन पढ़ाई करने के बाद फिर एक लाइन में कदमताल करते हुए वापस अपने हॉस्टल की तरफ चले जाते हैं। जानकारी मिलने के बाद मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. राजकुमार ने जांच के आदेश दे दिए थे लेकिन बुधवार को जिलाधिकारी जेबी सिंह ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए जांच के लिए दो सदस्यीय कमेटी गठित कर दी है।


Share it
Top