बंदियों की कलाइयों पर बहनों ने बांधी राखी,कुश्ती दंगल से लेकर कजली महोत्सव की धूम

बंदियों की कलाइयों पर बहनों ने बांधी राखी,कुश्ती दंगल से लेकर कजली महोत्सव की धूम


हमीरपुर । जिले में रक्षाबन्धन का पर्व जनपद में बड़े ही धूमधाम और हर्षाेल्लास से मनाया गया। बहनों ने भाइयों की कलाई में जहां रेशम का धागा बांधकर उनकी लम्बी उम्र की कामना की। वहीं भाइयों ने भी बहनों को तोहफा देकर उनकी सुरक्षा का वचन दिया। जनपद में जहां कारागार में बहनें अपने भाइयों को राखी बांधन के लिए सुबह से पहुंचने लगी थीं। वहीं आज हाथी दरवाजे में दंगल का आयोजन भी किया गया। इसके अलावा कजली महोत्सव की भी धूम रही।

घर-घर बहनों ने तिलक लगाकर अपने भाइयों की कलाई में जब प्यार के धागे बांधे तो भाइयों ने बहनों को तोहफा के साथ जीवन पर्यन्त इस अटूट रिश्तों का कायम रखने का वचन भी दिया। अनेक मुसलमानों के घरों में भी यह पर्व हर्षाेल्लास से मनाते हुए देखा गया। ऐसे ही एक परिवार जलीस खान के घर में भी रक्षाबन्धन का पर्व मनाया गया। वहीं रक्षाबन्धन पर्व के दिन हर साल की तरह इस बार भी हाथी दरवाजे में दंगल का आयोजन किया गया, जिसमें आसपास के इलाकों से आये पहलवानों ने अखाड़े में दांव पेंच दिखाये। कई कुश्तियां इनामी करायी गईं, जिसे देखने के लिये लोगों की भारी भीड़ उमड़ी।

उधर सुमेरपुर क्षेत्र के इंगोहटा व विदोखर गांव में कजली महोत्सव की तर्ज पर आज रक्षाबन्धन पर्व मनाया गया। इसमें गांव की महिलाओं ने कजलियां तालाब में विसर्जित की। इस दौरान मंगल गीत गाये गए। कजलियों के विसर्जन के बाद घरों में बहनों ने भाइयों की कलाई में रक्षा कवच बांधा। इधर हमीरपुर जिला कारागार में जेल प्रशासन ने रक्षाबंधन पर्व को लेकर बंदियों से मिलने आयी बहनों के लिये इंतजाम किया। सजा काट भाइयों की कलाई पर जब बहनों ने राखी बांधी तो उनकी आंखों में आंसू छलक आये।


Share it
Top