कानपुर में फिर दोहरा हत्याकांड, किसानों की निर्मम हत्या

कानपुर में फिर दोहरा हत्याकांड, किसानों की निर्मम हत्या


- ग्रामीणों में आक्रोश और एसएसपी समेत पुलिस के आलाधिकारी मौके पर

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में नानी और नाती की हत्या के बाद एक बार फिर दोहरा हत्याकांड की घटना को अंजाम दिया गया। किसानों की निर्मम हत्या को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त हो गया और पुलिस के खिलाफ विरोध दर्ज कराया गया। जानकारी पर एसएसपी, एसपी ग्रामीण समेत पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गये हैं।

चौबेपर थानाक्षेत्र के गबढ़हा गांव में रहने वाले किसान विनीत (32) और राजू (30) खेतों की रखवाली करने रात में खेत गये थे। बुधवार सुबह पड़ोस के गांव खोजकीपुर में दोनों के शव मिले। शव मिलने की जानकारी पर ग्रामीण एकत्र हो गये और दोनों की धारदार हथियार से नृशंश हत्या देख पुलिस के खिलाफ विरोध जताने लगे। इधर ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस को विरोध कर रहे लोगों से कहासुनी भी हो गयी। वहीं हत्या की जानकारी पर दोनों के परिजनों में कोहराम मच गया। परिजन यह नहीं समझ पा रहे हैं कि आखिर उनकी हत्या किन कारणों से की गयी। दोहरे हत्याकांड से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है।

दोहरे हत्याकांड की सूचना पर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण प्रद्युमन सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव मौके पर पहुंचकर हत्या के कारणों की जानकारी जुटाई। इसके साथ ही फॉरेंसिक और डॉग स्क्वॉयड की टीम को भी साक्ष्य जुटाने के लिए बुलाया गया है। थानाध्यक्ष सुखराम रावत ने बताया कि शवों को कब्जे में ले लिया गया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। एसएसपी ने बताया कि दो किसानों की धारदार हथियार से हत्या की गयी है। हत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है और परिजनों के तहरीर के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

गांव में फोर्स तैनात

ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस हर पहलुओं पर विचार कर आगे बढ़ रही है। एसएसपी ने बताया कि गांव में तनाव का माहौल है और इसी को देखते हुए भारी फोर्स तैनात कर दिया गया है।

25 दिन बाद दोहरी हत्या

जनपद में 25 दिन पहले चकेरी थाना क्षेत्र में नानी और नाती की हत्या कर दी गयी थी। जिसके खुलासे में पुलिस को 23 दिन लग गये थे। अभी दो दिन पहले ही पुलिस हत्यारे मजदूर को गिरफ्तार कर जेल ही भेजा था कि दो किसानों की नृशंश हत्या कर दी गयी।

एक घंटे की देरी से पहुंची पुलिस

दोहरे हत्याकांड की ग्रामीणों ने पुलिस को जब सूचना दी तो गांव में तनाव को देखते हुए थाना पुलिस एक घंटा तक पहुंची ही नहीं। जिससे ग्रामीणों में और आक्रोश व्याप्त हो गया। एक घंटे के बाद सीओ सर्किल के तीन थाना की फोर्स के साथ गांव पहुंचे और शवों को कब्जे में लिया।


Share it
Top