जीएसटी अधिकारियों ने ट्रांसपोर्टर को पकड़कर किया पुलिस के हवाले, जान से मारने की धमकी की दी तहरीर

जीएसटी अधिकारियों ने ट्रांसपोर्टर को पकड़कर किया पुलिस के हवाले, जान से मारने की धमकी की दी तहरीर


-थाना कल्याणपुर में ट्रांसपोर्टर के खिलाफ मारपीट,

कानपुर। कानपुर स्टेट जीएसटी कार्यालय की वसूली का खेल एक बार फिर सामने आया है। ट्रांसपोर्टरों और व्यापारियों से अवैध वसूली के चक्कर में एक ट्रांसपोर्टर को हवालात की हवा खानी पड़ी। उसका कसूर सिर्फ इतना था कि अधिकारियों को महीना देने के बाद होने वाली अवैध वसूली देने से व्यापारी ने इंकार कर दिया था। जिस पर जीएसटी अधिकारी ने पहले तो ट्रांसपोर्टर की गाड़ी पकड़ी, फिर कार्यालय बुलाकर वसूली करना चाहा। इंकार करने पर उसको मारा पीटा और उल्टा ट्रांसपोर्टर पर सरकारी दस्तावेज फाड़ने, अधिकारी के साथ मारपीट और जान से मारने की धमकी की शिकायत थाना कल्याणपुर में देते हुए ट्रांसपोर्टर को पकड़वाते हुए हवालात में बंद करा दिया।

थाना कल्याणपुर की हवालात में बंद ट्रांसपोर्टर विमल तिवारी की गलती सिर्फ इतनी थी कि इन्होंने स्टेट जीएसटी के सचल दल के असिस्टेंट कमिश्नर आशीष शुक्ला की बात नहीं मानी। जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ गया। ट्रांसपोर्टर ने जीएसटी अधिकारियों पर आरोप लगाया कि महीना एक लाख रुपया लेने के बावजूद ये जबरन ट्रांसपोर्टरों के माल लदे ट्रक पकड़ लाते है। इसके बाद वसूली करने के बाद उन्हें छोड़ा जाता है। उन्होंने बताया कि उनके ट्रक को भी सचल दल के असिस्टेंट कमिश्नर आशीष शुक्ला की टीम ने गुरुवार को पकड़ा और जीएसटी कार्यालय ने आए। ट्रक पकड़ने के एवज में उनसे वसूली की मांग की गई। उन्होंने देने से मना कर दिया। जिस पर अधिकारी ने ट्रांसपोर्टर को कार्यालय बुलाया और उसके साथ मारपीट कर पुलिस को सौंप दिया।

जीएसटी अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि ट्रांसपोर्टर पर आरोप लगाया कि ट्रक में बिना बिल का माल जा रहा था। जिस कारण ट्रक को जब्त किया गया और जीएसटी कार्यालय में जब्ती के प्रपत्र लिखे जा रहे थे, तभी ट्रांसपोर्टर अपने साथियों संग कार्यालय पहुंचा था। यहां पर उन्होंने सरकारी दस्तावेज फाड़ दिए और उनके साथ मारपीट करते हुए जान से मारने की धमकी दी। हंगामे की आवाज सुनकर कर्मचारियों ने ट्रांसपोर्टर को पकड़कर थाना कल्याणपुर पुलिस के हवाले कर दिया। जहां पर ट्रांसपोर्टर विमल तिवारी के खिलाफ तहरीर देते हुए कार्यवाही की गई है।


Share it
Top