अनशन पर बैठी महिलाओं की हालत बिगड़ी, बसपाईयों ने दी चेतावनी

अनशन पर बैठी महिलाओं की हालत बिगड़ी, बसपाईयों ने दी चेतावनी



हमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में शुक्रवार को तहसील परिसर पर आमरण अनशन पर बैठी महिलाओं की हालत अब बिगड़ने लगी है लेकिन अधिकारी कोई कार्यवाही नहीं कर रहे है। यह महिलायें तीन दिनों से लगातार आमरण अनशन कर रही है। महिलाओं के मासूम बच्चों का भी रो-रोकर बुरा है। बसपा के नेताओं ने महिलाओं की बिगड़ती हालत देख अल्टीमेटम दिया है कि यदि घटना का खुलासा कर पीड़ित परिवार को न्याय नहीं दिलाया गया तो सड़क पर उतरकर आन्दोलन किया जायेगा।

जिले के मौदहा कोतवाली क्षेत्र के टिकरी गांव निवासी तेज प्रताप सिंह परिहार ने बताया कि अज्ञात बदमाशों ने घर में धावा बोलकर लाखों मूल्य के सोने चांदी के जेवरात और नगदी ले गये थे जिसमें दो लोगों के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी गयी थी लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की। पुलिस की हीलाहवाली से तंग आकर सोमवती व साधना सिंह ने मौदहा तहसील परिसर पर आमरण अनशन शुरू किया है। पिछले तीन दिनों से आमरण अनशन कर रही इन महिलाओं की तबियत भी खराब होने लगी है। श्रीमती सोमवती को मधुमेह रोग है जिससे उसकी हालत शुक्रवार को ज्यादा खराब हो गयी है। सरकारी अस्पताल के डा. मोहम्मद असलम ने मौके पर पहुंचकर महिलाओं की जांच की और इसकी रिपोर्ट अधिकारियों को भेजी गयी है।

इधर बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष निशात नवी, छोटेलाल वर्मा, मानवेन्द्र सिंह रवि सिंह आदि ने उपजिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर चेतावनी दी है कि यदि घटना का खुलासा कर आमरण अनशन पर बैठी महिलाओं को न्याय नहीं मिला तो आन्दोलन किया जायेगा।

Share it
Top