जमीन हड़पने को भाई-बहन ने मिलकर कराई थी भाई की हत्या, पांच गिरफ्तार

जमीन हड़पने को भाई-बहन ने मिलकर कराई थी भाई की हत्या, पांच गिरफ्तार


कानपुर.। बिल्हौर थाना इलाके में प्राइमरी स्कूल में हत्या कर फेंके गये युवक के शव की घटना का खुलासा पुलिस ने कर दिया। मृतक की जमीन हड़पने के लिए सगी बहन व बड़े भाई ने पांच लोगों के साथ मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया था। पुलिस ने मृतक का चार दिन पूर्व तोड़ा गया मोबाइल हत्या आरोपियों के कब्जे से बरामद किया है।
बिल्हौर इलाके के मकनपुरखडैंचा सर्विस लेन के किनारे बने प्राइमरी स्कूल में बीते माह 25 तारीख को एक युवक का शव मिला। शव की जानकारी अध्यापक राजेन्द्र सिंह ने पुलिस को दी। ईंट से कुचलकर युवक की निर्मम हत्या की गई थी। मृतक की शिनाख्त न होने से पुलिस 25 दिन तक घटना की तफ्तीश में लगी रही, लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी। आखिरकार इस बीच 23 अगस्त को मृतक की शिनाख्त बिल्हौर के अनूपपुरवा के अनिल कुमार उर्फ पप्पू के रूप में हुई।
एसएसपी सोनिया सिंह ने पुलिस लाइन में हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि मृतक की शिनाख्त होते ही पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो पता चला कि मृतक के पास सात बीघा जमीन है, जिसमें से उसने दो बीघा जमीन सुरेश अस्थाना को तीन लाख रुपये में एग्रीमेंट कर बेचने का सौदा किया। जैसे ही जमीन बेचने की जानकारी मृतक की बहन शशि को हुई। उसने विरोध कर भाई से जबरन जमीन अपने नाम करवा ली और भाई को पैसा देने से बचने के लिए उसकी हत्या की साजिश रच डाली।
ऐसे अंजाम दी भाई की हत्या
बहन शशि का बिल्हौर में ही ब्यूटी पार्लर है। पार्लर में शशि के साथ पूजा नाम की युवती काम करती है। जमीन का रुपया न देने व पूरी जमीन हड़पने के लिए बहन ने प्रेमी गुडडू संग भाई की हत्या की साजिश रची और पार्लर में काम करने वाले युवती व उसके प्रेमी राकेश यादव को भी इसमें शामिल किया। योजना के तहत ही बहन ने भाई अनिल को पैसे देने का लालच देकर बुलाया। बाइक पर बैठाकर प्रेमी के साथ बहन भाई को लेकर मकनपुर रौगांव कोल्ड स्टोर के पास ले गई और फिर राकेश के हवाले कर दिया। जहां राकेश ने शराब पिलाने के बाद ईंट से कुचल कर अनिल की हत्या कर दी और फरार हो गये।
दोस्त ने निभाई दोस्ती
एसएसपी ने बताया कि मृतक की शिनाख्त होते ही मृतक के भाई ने दोस्त उपेन्द्र व राजू पर आरोप लगाया। पूछताछ में दोस्तों ने जमीन से लेकर मृतक के 25 दिनों से लापता होने के बाद कोई खोजबीन न करने से लेकर मोबाइल गायब होने की बात पुलिस को बताई। सर्विलांस टीम को एक्टिव किया गया। मृतक के नम्बरों को ट्रैक करते ही घटना के समय उसकी बहन के पास होने की लोकेशन मिल गई। इस बीच हत्या आरोपियों ने मृतक का मोबाइल तोड़ दिया। बहन को हिरासत में ले लिया गया और पूछताछ हुई तो हत्या की कड़ी से कड़ी जुड़ती चली गई और सभी हत्याभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया।

Share it
Top