पीएसी के आने पर हटाए जा सके मां-बेटे के शव, उग्र भीड़ ने खोला रास्ता

पीएसी के आने पर हटाए जा सके मां-बेटे के शव, उग्र भीड़ ने खोला रास्ता


कानपुर। कल्याणपुर थाना क्षेत्र में गैस सिलेंडर लदे ट्रक से मां-बेटे की मौत की घटना में पीएसी के आने पर गुस्साई भीड़ सड़क से हटी। इसके बाद पुलिस शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज सकी। इस दौरान लगभग तीन घंटे तक कल्याणपुर शिवली रोड जाम रही और वाहनों की आवाजाही बंद रही। पुलिस ने पकड़े गये ट्रक को कब्जे में लेकर थाने पहुंचाते हुए कार्यवाही शुरू कर दी।

बिठूर थाना इलाके में बनीदयालपुर में रहने वाले महादेव प्रसाद प्रधान है। रविवार को इनका बेटा राजकुमार पत्नी गीता (35) व बीमार बेटे अहित (5) के साथ कल्याणपुर स्थित डॉक्टर ढुकनिया के यहां दिखाने आ रहे थे। जैसे ही मोटरसाइकिल सवार दम्पति बीमार बेटे के साथ कल्याणपुर शिवली रोड स्थित सीएचसी के सामने पहुंचे, सड़क पर उनकी गाड़ी फिसल गई। इस बीच सामने से आ रहे इंडेन गैस सिलेंडर से लदे ट्रक ने मां व मासूम बेटे को रौंद दिया। दोनों की हृदय विदारक मौत हो गई। दुर्घटना में पति की जान बच गई। मृतक के परिजनों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर घटना को लेकर सड़क पर शवों को रखकर हंगामा शुरू कर दिया। इस बीच पुलिस से नोकझोंक के दौरान भीड़ ने चौकी इंचार्ज के बिल्ले नोच दिये। मौके पर पहुंची अपर सिटी मजिस्ट्रेट षष्टम हरीश चन्द्र, पुलिस उपाधीक्षक राजेश पांडेय व सर्किल का पुलिस बल पहुंचा। लाख समझाने के बावजूद घटना को लेकर आक्रोशित भीड़ सड़क से नहीं हटी।

कई घंटों के प्रयासों के बाद आखिरकार पीएसी बल बुलाना पड़ी, जिसके बाद मृतक के परिजनों से बातचीत के बाद भीड़ सड़क से हटी। इस दौरान करीब तीन घंटे तक कानपुर शिवली सड़क मार्ग पर वाहनों की आवाजाही बंद रही। पुलिस ने परिजनों को कड़ी कार्यवाही का आश्वासन देते हुए शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम भेजा। इसके बाद सिलेंडरों से लदा ट्रक को हटवाते हुए पुलिस ने कब्जे में लेकर कल्याणपुर थाने पहुंचाया। इंस्पेक्टर सतीश कुमार सिंह ने बताया कि ट्रक चालक बिल्हौर निवासी अरविंद को गिरफ्तार कर लिया गया है। मुकदमा दर्ज करते हुए कार्यवाही की जा रही है।


Share it
Top