सुपर टेनरी में रूक-रूक कर भड़क रही आग, करोड़ों का हुआ नुकसान

सुपर टेनरी में रूक-रूक कर भड़क रही आग, करोड़ों का हुआ नुकसान


सेना और दमकल की गाड़ियां आग बुझाने का कर रहीं प्रयास
कानपुर। काउंसिल फॉर लेदर एक्सपोर्ट के चेयरमैन मुख्तारूल अमीन की संजय नगर स्थित सुपर टेनरी में देर रात भीषण आग लग गयी। आग लगने से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया और आग इतनी विकराल थी कि आस-पास की टेनरी भी आग की चपेट में आ गयीं। कड़ी मशक्कत के बाद भोर पहर तक सेना और दमकल की कई दर्जन गाड़ियों ने आग पर काबू पाया। लेकिन रविवार को दोपहर के बाद तक आग पूरी तरह से बुझ नहीं पायी है और अभी भी रूक-रूक कर टेनरी में आग भड़क रही है। जिससे टेनरी का करोड़ों का नुकसान बताया जा रहा है।
सिविल लाइन्स में रहने वाले मुख्तारुल अमीन की जाजमऊ में सुपर हाऊस के नाम से टेनरी है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि टेनरी में देर रात अचानक शार्ट सर्किट से आग लग गयी। आग से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। आग ने पास में बनी गुरदीप टेनरी को भी अपनी चपेट में ले लिया। इलाकाई लोग अपने घरों से बाहर निकल आये और फायर विभाग को सूचना दी। मौके पर पहुंची दमकल की दो दर्जन गाड़ियों व एसपी पूर्वी के साथ कई थानों की फोर्स पंहुची और करीब तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काफी हद तक काबू पा लिया। लेकिन टेनरी में भारी मात्रा में केमिकल होने की वजह से आग बार बार भड़क रही थी, जिसके चलते फायर और पुलिस के जवानों को भारी मशक्कत करनी पड़ रही थी और मजबूर होकर आर्मी को भी मौके पर बुलाना पड़ा। इसके बाद दमकल और आर्मी ने भोर पहर आग पर काबू पाया, पर रविवार दोपहर बाद तक भी आग पूरी तरह से बुझ नहीं पायी है। समाचार लिखे जाने तक टेनरी में आग रूक-रूक कर भड़क रही है और सेना और दमकल के जवान पूरी तरह से नजर रखे हुयें है।
पुलिस अधीक्षक पूर्वी अनुराग आर्या ने बताया कि फैक्ट्री में सिलेंडर फटने से दो बार बड़ा विस्फोट भी हो गया जिससे इलाके में दहशत का माहौल बना। हालांकि आग पर काबू पा लिया गया है पर एहतिहातन अभी भी सेना और दमकल के जवान मौके पर मौजूद हैं, क्योंकि आग रूक-रूक कर भड़क रही है। फायर अधिकारियां के मुताबिक प्रथम दृष्टया जो जानकारी मिल रही है उससे शार्ट सर्किट से आग लगी लगी है। जिससे करोड़ों के नुकसान की बात सामने आ रही है, जांच की जा रही है उसके बाद आगे की कार्यवाही की जायेगी। सेना के मेजर नवीन चौहान ने बताया कि दमकल की पन्द्रह गाड़ियां आग बुझा रहीं थी, लेकिन बेकाबू आग को देख हमसे सहायता मांगी गयी और सेना की चार गाड़ियां व दर्जनों जवान जाकर आग बुझाने में मदद की। वहीं अस्वस्थ चल रहे टेनरी मालिक मुख्तारुल अमीन अभी कुछ भी बोलने से मना कर दिया।

Share it
Top