प्रसूता की नर्सिंग होम में मौत, परिजनों ने किया हंगामा

प्रसूता की नर्सिंग होम में मौत, परिजनों ने किया हंगामा



देवरिया। सदर कोतवाली क्षेत्र में शुक्रवार को एक प्राइवेट नर्सिंग होम में प्रसूता की इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल में हंगामा किया। सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

सलेमपुर कोतवाली क्षेत्र के बभनौली की रहने वाली शालिनी पाण्डेय(26) की सत्यनारायण के साथ तीन वर्ष पूर्व शादी हुई थी। सत्यनारायण पाण्डेय गुरुग्राम में एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। उनकी गर्भवती पत्नी का इलाज जिला कारागार के पास स्थित एक प्राइवेट नर्सिंग होम पर चल रहा था। चार सितम्बर को महिला को प्रसव पीड़ा होने पर परिजनों ने शालिनी को नर्सिंग होम में भर्ती कराया। डाॅक्टर ने महिला को नॉर्मल प्रसव की बात कहकर भर्ती कर लिया। जब महिला को सामान्य प्रसव नहीं हुआ तो पांच सितम्बर को डाॅक्टरों ने शालिनी का आॅपरेशन कर दिया। महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया।

गुरुवार की देर शाम को महिला की तबियत अचानक खराब होने लगी। परिजनों का आरोप है कि वे लोग डाॅक्टर को देखने के लिए गुहार लगाते रहे लेकिन कोई भी डाॅक्टर देखने नहीं आया। शुक्रवार की भोर में शालिनी ने दम तोड़ दिया। कर्मचारियों ने डाॅक्टर को इसके बारे में जानकारी दी। डाॅक्टर आने के बाद महिला को गोरखपुर ले जाने की सलाह देने लगी। इस पर परिवार के लोग आक्रोशित हो गए। महिला की मौत होने के बाद रेफर करने से वे भड़क गए। अस्पताल में हंगामे की सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने लोगों को शांत कराते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शहर कोतवाल विजय नारायण ने बताया कि पीड़ितों ने तहरीर दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।


Share it
Top