गिरिजा की संस्था में आने-जाने वाले सभी एसआईटी की रडार पर

गिरिजा की संस्था में आने-जाने वाले सभी एसआईटी की रडार पर


देवरिया। देवरिया के चर्चित बालिका गृह कांड में संस्था पर कुछ चुनिन्दा लोग ही आते जाते थे। इसमें शहर से लेकर दूसरे जिलों के लोग भी हैं। एसआईटी ऐसे लोगों की सूची बनाने में लगी है तो बालिका गृह कांड के पहले संस्था पर आते थे। ऐसे सभी लोग एसआईटी के रडार पर है जिनका संस्था से लगाव था। इसके साथ ही संस्था के कर्मचारियों से पूछताछ करेंगी। संस्था के कुछ कर्मचारी मोबाइल बंद कर गायब हो गई हैं।

मां विन्धवासिनी महिला प्रशिक्षण एवं सेवा संस्थान में दो दशक से महिलाओं के कार्यक्रम चलाया जाता था। संस्था की संचालिका गिरिजा त्रिपाठी ने इन्हीं कार्यक्रमों के दम पर अधिकारियों के बीच अपनी पैठ बनाई। इसके साथ ही वह कुछ सफेद पोशों के सम्पर्क में आ गई। उन्हें सीढ़ी बनाकर उन्होंने कई कार्यक्रम अपने संस्था को दिलाया। संस्था के कार्यों में संचालिका अधिकारियों के सम्पर्क का फायदा उठाने लगी। कुछ अधिकारियों और सफेदपोशों ने नियमों को दरकिनार कर गिरिजा की मदद की। ऊंचे रसूख के बल पर गिरिजा के संस्था पर आम लोगों की जाने की हिम्मत नहीं थी। कुछ चुनिन्दा लोगों का संस्था पर आना जाना होता था। जब कभी कोई शिकायत करता तो अधिकारी और सफेदपोश उनकी ढाल बन कर सामने आकर मामले को रफा दफा कर देते थे। यह सभी लोग एसआईटी के रडार है, आने वाले दिनों में एसआई इन सभी लोगों से पूछताछ कर सकती है। इसके साथ संस्था में कार्य करने वाली पुराने कर्मचारियों से भी सम्पर्क कर उनसे कार्य छोड़ने के बारे में जानकारी कर सकती है। इसके साथ ही वर्तमान में कार्य करने वाली कर्मचारियों से भी संस्था के बारे में पूछताछ हो सकती है।

Share it
Share it
Share it
Top