पालतू कुत्ते का पंजीकरण शुल्क घटाकर किया एक हजार रुपये

पालतू कुत्ते का पंजीकरण शुल्क घटाकर किया एक हजार रुपये

गाजियाबाद। पालतू कुत्तों का पंजीकरण शुल्क घटाकर एक हजार रुपये सालाना कर दिया गया है। नगर निगम बोर्ड ने शनिवार को सुल्तानपुर से भाजपा सांसद एवं पीपुल फॉर एनिमल्स (पीएफए) की चेयरपर्सन मेनका गांधी की अपील पर शुल्क में कटौती की है। पिछले दिनों निगम बोर्ड बैठक ने ही कुत्ते का पंजीकरण शुल्क 10 रुपये से बढ़ाकर पांच हजार रुपये किया था।

मेयर आशा शर्मा ने बोर्ड बैठक में बताया कि पालतू कुत्ते का पंजीकरण शुल्क पांच हजार रुपये वार्षिक करने पर सुल्तानपुर से भाजपा सांसद एवं पीएफए की चेयरपर्सन मेनका गांधी ने ई-मेल भेज कर आपत्ति जताई थी। शुल्क में कटौती करने की अपील की थी। यह भी बताया कि उन्होंने 250 रुपये शुल्क प्रस्तावित किया है। ई-मेल के अलावा उन्होंने फोन करके पंजीकरण शुल्क कम करने की अपील की थी। बोर्ड सदस्यों को अवगत कराया कि मेनका गांधी के अलावा पशुओं से लगाव रखने वाले व्यक्ति और संस्थाओं ने एक हजार से ज्यादा विरोध पत्र भेजे हैं। भूमिका को बांधते हुए मेयर ने पालतू कुत्ते का वार्षिक पंजीकरण शुल्क कम करने का प्रस्ताव रखा। इस पर मंथन के दौरान कई पार्षदों ने कहा कि पांच हजार रुपये शुल्क को द्विवार्षिक कर दिया जाए। कुछ ने सलाह दी कि शुल्क आधा कर दिया जाए। सबकी राय जानने के बाद मेयर ने तय किया कि प्रति वर्ष एक हजार रुपये पंजीकरण शुल्क लिया जाएगा।

Share it
Top