यूपी में अन्य राज्यों से अवैध रूप से लाया जा रहा पालीथिन

यूपी में अन्य राज्यों से अवैध रूप से लाया जा रहा पालीथिन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने कहा है कि प्रदेश में पालीथिन पूरी तरह से प्रतिबंधित किया गया है लेकिन पडोसी राज्यो से अवैध रूप से लाये जा रहे पालीथिन का प्रयोग प्रदेश के दुकानदार तथा अन्य लोग चोरी छुपे कर रहे है। वन एवं पर्यावरण मंत्री दारा सह चौहान ने आज राज्य विधानसभा में पूछे गये एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि सरकार प्रदेश में पालीथिन के पूर्ण प्रतिबंध लगाने जाने के लिये पूरी तरह सजग है। उन्होने प्रदेश में पालीथिन के पूरी तरह प्रतिबंधित नही हो पाने के लिये पूर्ववर्ती समावादी पार्टी(सपा) सरकार को दोषी ठहराया । उन्होने कहा कि पिछली सरकार ने 21 जनवरी 2016 को इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश के बाद पालीथिन प्रतिबंधित किये जाने का अध्यादेश तो जारी कर दिया लेकिन इसे पूरी तरह लागू नही किया गया जिससे यह अभी भी एक समस्या बनी हुई है। वन एवं पर्यावरण मंत्री ने कहा कि मौजूदा सरकार ने प्रदेश में 20 माइक्रोन से कम पालीथिन उतपादन कर रहे बहुत से यूनिटों को बंद करा दिया है। प्रदेश में बहुत से पालीथिन यूनिट बंद है। इनमें लखनऊ तथा कानपुर की यूनिटे भी शामिल है। उन्होने आरोप लगाया कि राज्य में पडोसी राज्यों से अवैध रूप से पालीथिन लाया जा रहा है। ऐसे लोगों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जा रही है। सपा सदस्य शैलेन्द्र यादव तथा अन्य सदस्यों ने कहा कि पालीथिन का अवैध रूप से प्रयोग किया जा रहा है जिससे इसको खाने से गायें और भैंसे मर रही है । एक प्रश्न के उत्तर प्रदेश में श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में अवैध रूप से चलाये जा रहे आरा मशीनें की जांच की जा रही है कि इसके पास अवैध रूप से लकडियां कहा से आ रही है। आरा मशीन को न्यायालय के आदेश के बाद प्रतिबंधित कर दिया गया है। पडोसी राज्यों ने आसपास के क्षेत्रों में अवैधरूप से कई आरा मशीनों को खोल दिया है। सरकार इस मामले की जांच कर रही है। उन्होने कहा कि सरकार गोरखपुर के अमी नदी को प्रदूषण मुक्त करने की कोशिश में लगी है।

Share it
Share it
Share it
Top