बुलन्दशहर में शौचालयों के निर्माण में अनियमितता के मामले में अधिकारियों पर कार्रवाई

बुलन्दशहर में शौचालयों के निर्माण में अनियमितता के मामले में अधिकारियों पर कार्रवाई

बुलन्दशहर । उत्तर प्रदेश में बुलन्दशहर के जिलाधिकारी डा. रोशन जैकब ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिले में बनाए जा रहे शौचालयों के निर्माण में अनियमितता एवं लापरवाही बरतने के आरोप में दो सहायक खंड विकास अधिकारियों की सेवा पुस्तिका में प्रतिकूल प्रविष्टि दर्ज करने एवं 11 ग्राम पंचायत अधिकारियों का वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं।
जैकब ने आज यहां समीक्षा बैठक के बाद बताया कि अभियान के तहत आगामी 31 मार्च तक जिले को ओडीएफ करने का लक्ष्य निर्धारित है। जिसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में शौचालय बनाये जा रहे हैं। निर्माण कार्य पूरी तरह से विकास विभाग के निर्देशन में चल रहा है।
उन्होंने बताया कि समीक्षा बैठक के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया कि स्याना, डिबाई, बीबीनगर, बुलन्दशहर, लखावटी, अनूपशहर और जहांगीराबाद विकास खंड में बन रहे शौचालय में प्रयुक्त हो रही निर्माण सामग्री गुणवत्तायुक्त नहीं है अथवा निर्माण कार्य में लापरवाही बरती जा रही है। शासन के निर्देश पर विकास विभाग के अधिकारियों को निर्मित शौचालय का फोटो आदि भेजने के भी निर्देश हैं, जिसका अनुपालन कुछ विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी गंभीरता से नहीं कर रहे हैं।
इसी आधार पर उन्होंने अनूपशहर एवंं जहांगीराबाद के एडीओ पंचायत वीर सिंह एवं नेत्रपाल सिंह की सेवा पुस्तिका में प्रतिकूल प्रविष्टि दर्ज करने, डिबाई ब्लाॅक के ग्राम पंचायत अधिकारी पुनीत कुमार, भारत, रोहित, जितेन्द्र, नाथूराम, स्याना ब्लाॅक के गजेंद्र सिंह, देशराज गिरि, रोहताश, बुलन्दशहर के कुलदीप शर्मा, लखावटी के सचिन अौर बीबीनगर ब्लाॅक के ग्राम पंचायत अधिकारी तेज प्रताप सिंह का वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं।

Share it
Top