बुलंदशहर में दहेज हत्या के आरोप में पति समेत चार लोगों को कारावास

बुलंदशहर में दहेज हत्या के आरोप में पति समेत चार लोगों को कारावास

बुलन्दशहर । उत्तर प्रदेश में बुलन्दशहर की एक अदालत ने दहेज हत्या के आरोप में महिला के पति को दस तथा तीन अन्य लोगों को नौ-नौ वर्ष के कारावास और 19-19 हजार रुपये क जुर्माने की सजा सुनाई।
अभियोजन पक्ष के अनुसार अलीगढ़ के नरौरा क्षेत्र स्थित सहला बिसावनपुर निवासी वजीर खां ने तीन जून 2015 को जिला अलीगढ़ निवासी वजीर खां ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि वर्ष 2010 में उसने अपनी पुत्री रूखसाना का निकाह नरौरा क्षेत्र के पिलखना निवासी सिराज के साथ किया था। शादी के बाद से ही दहेज की मांग को लेकर ससुराल वाले रूखसाना का उत्पीड़न करने लगे।
रिपोर्ट में खां ने आरोप लगाया था कि दहेज की मांग पूरी नहीं होने के कारण तीन जून 2015 को रूखसाना के पति सिराज ने अपने पिता मुस्ताक, मां छोटी बेगम और छोटे भाई सलमान के साथ मिलकर उसके उपर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी जिससे उसकी मृत्यु हो गयी।
अपर जिला सत्र न्यायाधीश राम नारायण सिंह ने सुनवाई के बाद इस मामले में पति सिराज, ससुर मुस्ताक, सास छोटी बेगम एवं देवर सलमान को दोषी करार दिया। न्यायालय ने पति मृतका के पति को दस साल तथा अन्य लोगों को नौ-नौ वर्ष के कारावास और 19-19 हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनायी।

Share it
Top