भाजपा विधायक की मानवता, घायल को पीठ पर लादकर पहुंचाया अस्पताल

भाजपा विधायक की मानवता, घायल को पीठ पर लादकर पहुंचाया अस्पताल


फर्रूखाबाद। वर्तमान राजनीति में तमाम नेता गलत वजहों और विवादास्पद बयानों के चलते खबरों सुर्खियों में रहते हैं। तो दूसरी तरफ फर्रुखाबाद सदर के भाजपा विधायक मानवता की मिसाल पेश कर सोशल मीडिया में छाये हुए है। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि विधायक ने सड़क हादसे में घायल को पीठ पर लादकर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड पहुंचा रहे हैं।
बता दें कि शुक्रवार की शाम फतेहगढ़ के नगला पीतम निवासी अरविन्द चौहान अपनी साइकिल से नेकपुर की तरफ जा रहे थे। पीछे से मोहल्ला नगला दीना निवासी ऋषभ अपनी बाइक से आए और अरविन्द को टक्कर मार दी। जिससे ऋषभ की बाइक अनियंत्रित होकर गिर गई। बाइक से गिरते ही पीछे से एक और बाइक से आ रहे आवास विकास निवासी रामेश्वर सिंह की भी गाड़ी उसकी में टकरा गई। जिससे तीनो गंभीर रूप से घायल हो गए। तीनों सड़क पर तड़प रहे थे। घटना के बाद न तो एंबुलेंस आई और न ही पुलिस मौके पर पहुंची। लोगों की भीड़ भी लगी रही लेकिन कोई मदद के लिए आगे नहीं आया। इसी बीच सदर विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी अपने ऑफिस से निकलकर घर जा रहे थे।
तभी भीड़ देखकर उन्होंने गाड़ी रोक दी। घायलों को देख विधायक ने मानवता दिखाते हुए तीनों घायलों को अपनी कार में लोहिया हॉस्पिटल भेजा। लेकिन हॉस्पिटल में घायलों को इमरजेंसी तक ले जाने के लिए कोई व्यवस्था नहीं थी। यह देख विधायक मानवता दिखाते हुए गंभीर रूप से घायल को पीठ पर लादकर इमरजेंसी ले गये। इस बीच किसी ने विधायक का वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। अपलोड होते ही विधायक सोशल मीडिया पर छा गये।
विधायक ने बताया कि जब मैं घायलों को हॉस्पिटल ले गया तो इमरजेंसी में पहले से ही दो घायल स्ट्रेचर पर पड़े हुए थे। स्ट्रेचर की जब मांग की गई तो साफ मना कर दिया गया ऐसे में वहां अपना परिचय बताने से बेहतर स्वयं पीठ पर लादकर घायल को इमरजेंसी तक ले जाना बेहतर समझा। बाकी बचे दो घायलों को भी साथियों ने पीठ पर लादकर इमरजेंसी पहुंचाये।
यह देख अस्पताल प्रबंधन हुआ सक्रिय
विधायक ने बताया कि जब घायल को पीठ पर लादकर इमरजेंसी ले गया तो इसी बीच किसी ने अस्पताल को मेरे विषय में बता दिया। जिसके बाद हरकत में आया अस्पताल प्रबंधन घायलों को समुचित इलाज करने में जुट गया। जिसके चलते घायलों की स्थिति में बहुत जल्द सुधार हुआ। हालांकि विधायक ने अस्पताल के इस रवैये की शिकायत स्वास्थ्य मंत्री से करने की बात कही है। बताते चलें सदर विधायक भाजपा के कद्दावर नेता रहे ब्रह्मदत्त द्विवेदी के पुत्र हैं, जिनकी 1997 में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।
डिप्टी सीएम भी घायल को पहुंचा चुके हैं अस्पताल
वैसे अलग-अलग नेताओं का सड़क हादसों में अलग रुख रहता है। कुछ दिन पहले ही यूपी के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कानपुर में सड़क हादसे में घायलों को अस्पताल पहुंचाया था और बाद में घटनास्थल पर मदद की जगह वीडियो बनाने वालों आड़े हाथों लिया था। जबकि भाजपा सांसद और अभिनेत्री हेमामालिनी एक सड़क हादसे में घायलों की न मदद किए जाने पर आलोचना का शिकार हुई थीं।

Share it
Top