गम्भीर बीमारी से जूझ रहे राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी ने शासन से लगाई मदद की गुहार

गम्भीर बीमारी से जूझ रहे राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी ने शासन से लगाई मदद की गुहार



लखीमपुर-खीरी। 20 वर्षों तक भारोत्तोलक के खेल में अपना लोहा मनवाने वाला एक खिलाड़ी अपनी बीमारी के चलते इन दिनों आर्थिक तंगी का शिकार है। इलाज के लिए इस खिलाड़ी ने डीएम खीरी को प्रार्थना पत्र देकर आर्थिक मदद की गुहार लगाई है। खिलाड़ी द्वारा बीमारी के चलते अपनी पत्नी के जेवर तक बिग जाने की बात का जिक्र दिए गए प्रार्थना पत्र में किया है। राष्ट्रीय स्तर के इस खिलाड़ी ने बुधवार को यह जानकारी मीडिया को दी है।

मोहल्ला सिकटिया निवासी हरेराम निगम पुत्र श्यामलाल निगम भारोत्तोलक खेल के अच्छे खिलाड़ी हैं। इन्होंने जनपद स्तर से प्रदेश स्तर सहित राष्ट्रीय खेलों में तमाम पुरस्कार प्राप्त किए हैं। लेकिन आज यह खिलाड़ी गंभीर बीमारियों से ग्रसित है। खिलाड़ी के बाएं पैर में चोट लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। जिसके साथ ही उसके गुर्दों में संक्रमण होने के चलते वह बिस्तर पर पड़ा हुआ है।

खिलाड़ी हरिराम निगम का कहना है कि गुर्दों में संक्रमण होने के चलते उसकी डायलिसिस भी समय-समय पर हुई, लेकिन अब उसके पास इस इलाज के लिए कोई भी जमा पूंजी नहीं बची है। उसने अपनी पत्नी के सभी जेवर इत्यादि बेचकर अपनी बीमारी का इलाज कराया, लेकिन बीमारी है कि आज भी उसे छोड़ना नहीं चाह रही है। अब उसके पास इतना पैसा भी नहीं कि वह इस इलाज को जारी रख सके। ऐसे में इस राष्ट्रीय खिलाड़ी ने डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह को एक प्रार्थना पत्र देखकर शासन से इलाज के लिए आर्थिक मदद दिलवाने की गुहार लगाई है।

हरेराम निगम ने बताया कि जिला स्तरीय खेलों सहित कानपुर, दिल्ली तथा कोलकाता में हुए राष्ट्रीय खेल में भी वह भाग ले चुके हैं। उन्होंने सन् 1984 से भारोत्तोलक का यह खेल शुरू किया था और बीमारी से ग्रसित होनेे से पहले तक सन् 2004 तक वह यह खेल खेलते रहे हैं। इस दौरान उन्होंने प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर के कई पुरस्कार जीते हैं।


Share it
Share it
Share it
Top