स्कूल में प्रधानाध्यापक की उपस्थिति में फहराया उल्टा राष्ट्रीय ध्वज

स्कूल में प्रधानाध्यापक की उपस्थिति में फहराया उल्टा राष्ट्रीय ध्वज



झांसी। स्वतंत्रता की चिंगारी फूंकने वाली वीरांगना लक्ष्मी बाई की भूमि कही जाने वाले जनपद के एक गांव में स्वतंत्रता दिवस पर ही राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करते हुए उल्टा ध्वज फहरा कर औपचारिकता निभा दी गई। इस दौरान शिक्षकों ने यह देखना भी उचित नहीं समझा कि ध्वज सीधा है या उल्टा। इस घटना के बाद पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।

मोंठ तहसील क्षेत्र के ग्राम सिमथरी में बुधवार को अन्य संस्थानों की तरह प्राथमिक विद्यालय में भी राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया। ध्वज को फहराने के लिए प्रधान हेमलता शर्मा के पति महेन्द्र शर्मा को बुलाया गया था। इससे पूर्व प्रधानाध्यापक रामदयाल प्रजापति के साथ वीरेन्द्र चउदा,एक अन्य शिक्षक और तीन अनुदेशकों की देखरेख में पूरे गांव में स्कूल के 103 छात्र-छात्राओं के साथ प्रभातफेरी निकाली गई। झंडा ऊंचा रहे हमारा,विजयी विश्व तिरंगा प्यारा गाते हुए बच्चों ने उल्टे झंडे के साथ पूरे गांव की परिक्रमा की।

इसके बाद मुख्य अतिथि प्रधान पति ने भी ध्वाजारोहण करते समय ध्यान नहीं दिया कि झंडा उल्टा था। अंत तक किसी को राष्ट्र ध्वज के अपमान का एहसास ही नहीं हुआ। बाद में इसकी तस्वीर लोगों तक पहुंची, तो वह कहते नजर आए कि जब शिक्षकों का यह हाल है तो उनके बीच अध्ययन कर रहे छात्रों की क्या स्थिति होगी।


Share it
Share it
Share it
Top