झांसी :11 बजे तक हुआ 19 प्रतिशत मतदान

झांसी :11 बजे तक हुआ 19 प्रतिशत मतदान


झांसी। उत्तर प्रदेश की झांसी संसदीय सीट पर कहीं कहीं कुछ समस्याओं के साथ आमतौर पर मतदान शांतिपूर्ण तरीके से जारी है और सुबह 11 बजे तक 19 प्रतिशत मतदान हो गया है।

झांसी-ललितपुर संसदीय क्षेत्र में कुछ स्थानों पर ईवीएम में गड़बड़ी और कुछ में ग्रामीणों के स्थानीय मुद्दों को लेकर बहिष्कार जैसी दिक्कतों के बीच ललितपुर में 28 प्रतिशत, झांसी की मऊरानीपुर विधानसभा में 27 प्रतिशत,बबीना में 21 प्रतिशत और महरौनी में 30 प्रतिशत मतदान सुबह 11 बजे तक हो चुका था।

मऊरानीपुर विधानसभा के टकटौली गांव में केवल दो वोट पड़ने के बाद ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार कर दिया और पोलिंग बूथ पर मतदान रूक गया। ग्रामीणों का कहना था कि मऊरानीपुर से टकटौली गांव करीब 22 किलोमीटर दूर है और रास्ता पूरी तरह से टूटा हुआ है । इस बारे में अधिकारियों और नेताओं को कई बार बताया गया लेकिन संपर्क मार्ग को ठीक नहीं किया गया । लोगों को मतदान के लिए आने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है इसलिए वह लेाग मतदान नहीं करेंगे।

इसकी जानकारी मिलते ही तहसील प्रशासन आनन फानन में मौके पर पहुंचा और ग्रामीणों को समझाने का काम किया । काफी मान मुन्नव्वल के बाद प्रशासन दोबारा मतदान शुरू करा सका। इसी तरह की घटना बबीना विधानसभा के चिपलौठा गांव में सामने आयी जहां लोगों से उड़नदस्ते की टीम द्वारा अभद्रता किये जाने का आरोप लगाते हुए लोगों ने मतदान का बहिष्कार किया । सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे उच्चाधिकारियों ने लोगों को समझाने का प्रयास किया। अधिकारियों के ग्रामीणों के को लिखित मे आश्वासन देने के बाद ही पोलिंग बूथ पर मतदान सुचारू हो पाया।

जालौन गरौठा भोगनीपुर सुरक्षित लोकसभा सीट 45 में बारह बजे तक 20 प्रतिशत मतदान संपन्न हुआ। मतदान को लेकर मतदाताओं में उत्साह साफ तौर पर दिखायी दिया और 41 डिग्री तापमान में दिव्यांग मतदाता भी अपनी बारी का इंतजार करते नजर आये हालांकि प्रशासन ने दिव्यांगों के लिए लाइन से हटकर मतदान करवाने की सुविधा दी है मतदान के लिए लंबी लंबी लाइनों में इंतजार ना करने की सुविधा मिलने से दिव्यांगों में भी मतदान के प्रति गजब का उत्साह नजर आया।

जालौन गरौठा भोगनीपुर सुरक्षित लोकसभा सीट में भी कहीं कहीं कुछ परेशानियों की सूचनाएं मिली। एक सैकड़ा से अधिक बुनियादी सुविधाओं को लेकर मतदाताओं ने मतदान का बहिष्कार करने की घोषणा की है बहिष्कार की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन संबंधित मतदान केंद्र पर पहुंच कर मतदाताओं को समझा-बुझाकर मतदान करने के लिए प्रेरित किया तथा आश्वासन दिया कि बुनियादी समस्याओं को ध्यान में रखकर समस्या का निराकरण किया जाएगा प्रशासनिक अधिकारियों आश्वासन के बाद मतदाता मतदान करने के लिए तैयार हुए।

जिला निर्वाचन अधिकारी मन्नान अख्तर ने बताया कि मतदान की बहिष्कार की सूचना पर गांव पहुंचकर मतदान अवश्य ही करवाया जाएगा।

हमीरपुर-महोबा संसदीय क्षेत्र में भी सुबह से कुछ दिक्कतों के साथ मतदान शांतिपूर्ण तरीके से ही शुरू हुआ और 11 बजे तक लगभग 23 प्रतिशत मतदातओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर लिया है। यहां सुमेरपुर के कनडोर गांव में पोलिंग बूथ पर ईवीएम दो घंटे बंद रही जिस कारण मतदान देर से शुरू हुआ । ज्यादातर मतदान केंद्रों पर दिव्यांग मतदाताओ की सुविधा के लिए व्हीलचेयर नहीं होने से उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र में 11 बजे के बाद पारा धीरे धीरे चढना शुरू हो गया है और समाचार लिखे जाने तक पारा 45 के आसपास आ गया था जिसका असर मतदान पर भी दिखायी देने लगा है।


Share it
Top