पूर्व जिला पंचायत सदस्य से डेढ़ करोड़ की रंगदारी मांगने वाले तीन आरोपित गिरफ्तार

पूर्व जिला पंचायत सदस्य से डेढ़ करोड़ की रंगदारी मांगने वाले तीन आरोपित गिरफ्तार


बांदा। पूर्व जिला पंचायत सदस्य से डेढ़ करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने और जानमाल की धमकी देने के मामले में पुलिस ने सोमवार को तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है, जबकि एक फरार है। पकड़े गए आरोपितों में चित्रकूट का एक शातिर अपराधी शामिल है, जिस पर दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं।

पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद साहा ने बताया कि अतर्रा के ग्राम दिखितवारा निवासी लक्ष्मी प्रसाद कुशवाहा ने 14 नवम्बर प्राथमिकी दर्ज करायी थी। इसमें उन्होंने बताया कि अज्ञात बदमाशों ने फोन कर डेढ़ करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी है। रुपये न देने पर जान से मारने की धमकी दी है।

अतर्रा थाना पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सर्विलांस टीम की मदद लेकर अज्ञात अपराधियों की सुरागरसी प्रारंभ की। पुलिस ने इस मामले में चित्रकूट के शातिर अपराधी चंद्रशेखर यादव को सोमवार को कर्वी चित्रकूट से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के दौरान उसने अपना जुर्म स्वीकारा और उसकी निशानदेही पर पुलिस ने दो अन्य अतर्रा गांव निवासी राजा द्विवेदी और कल्लू उर्फ जागेश्वर यादव को धर दबोचा। वहीं, घटना के बाद से गया प्रसाद यादव फरार चल रहा है।

पूछताछ करने पर उन लोगों ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए डेढ़ करोड़ की रंगदारी लक्ष्मी प्रसाद कुशवाहा से मोबाइल के जरिए मांगने की बात स्वीकार की। बताया कि भरतकूप चित्रकूट निवासी गया प्रसाद यादव एवं अतर्रा के राजा द्विवेदी ने साजिश रची की, लक्ष्मी प्रसाद कुशवाहा से पैसा वसूल किया जाए, जो पूर्व जिला पंचायत सदस्य और बड़े कारोबारी हैं। योजना के तहत उन लोगों ने चित्रकूट के चंद्रशेखर यादव से सितम्बर माह में रामघाट सीतापुर में मुलाकात की और उसे भी योजना में शामिल कर लिया। इसके बाद उसने मोबाइल से लक्ष्मी प्रसाद कुशवाहा को धमकी देकर डेढ़ करोड़ रुपये मांगे और न देने पर जान से मारने की धमकी दी है।

एसपी ने बताया कि पकड़े गए अभियुक्तों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है तथा फरार आरोपित की तलाश की जा रही है।


Share it
Top