झांसी: एडीएम के रडार पर साहूकार, छह लाइसेंस निरस्त

झांसी: एडीएम के रडार पर साहूकार, छह लाइसेंस निरस्त


झांसी। अब जनपद में मनमानी ब्याज दरों पर कर्ज देना आसान नहीं होगा। इसके लिए साहूकारों को अपने लाइसेंस गंवाते हुए कार्रवाई के लिए भी तैयार रहना होगा। इसके चलते अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व नगेंद्र शर्मा ने एक्शन मोड में आते हुए जिले के छह लाइसेंस धारकों के लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं। एडीएम ने साफ कर दिया कि किसानों एवं गरीबों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

अपर जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि जिले में ब्याज का काम करने वाले लाइसेंस धारक साहूकारों का औचक सत्यापन किया जाएगा। यदि लाइसेंस धारक सत्यापन के दौरान तयशुदा स्थान पर नहीं पाए जाते हैं। मांगे जाने पर प्रपत्र उपलब्ध नहीं कराते हैं या उपलब्ध प्रपत्र अपूर्ण पाए जाते हैं तो उत्तर प्रदेश साहूकारी विनियम 1976 की धारा 8 के तहत साहूकारी लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा।

बुधवार को शिकायत के आधार पर एडीएम नगेंद्र शर्मा ने सिविल लाइन निवासी ज्ञान सिंह की मृत्यु हो जाने पर लाइसेंस निरस्त कर दिया। इसके अलावा मऊरानीपुर निवासी उमाशंकर सोनी, मोठ तहसील निवासी महेंद्र कुमार योगी, नई बस्ती निवासी देव कुमार कुशवाहा, संजय सिंह और मऊरानी निवासी अमीन अली के साहूकारी लाइसेंस निरस्त कर दिया गया है।

सत्यापन की कसौटी पर उतरना होगा खरा

एडीएम ने बताया कि सत्यापन के दौरान प्रपत्र संख्या 10 में अंकित से क्रॉस चेकिंग की जाएगी। यदि कर्जदार द्वारा बताया गया कि साहूकार अधिक ब्याज वसूल रहा है तो अधिनियम अंतर्गत सुसंगत धाराओं में कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। यदि लाइसेंस साहूकार प्रपत्र संख्या 7, 8, 9, व 10 का रखरखाव सही ढंग से नहीं करते हैं। अगर उनसे पपत्र मांगने पर उपलब्ध नहीं कराया जाता है तो धारा 8 के अंतर्गत साहूकारी लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा।


Share it
Top