बागपत: कब्रिस्तान को लेकर 44 साल से जारी है विवाद

बागपत: कब्रिस्तान को लेकर 44 साल से जारी है विवाद



बागपत। बागपत में एक कब्रिस्तान ऐसा है जिस पर पिछले 44 सालों से दो समुदायों की लड़ाई चलती आ रही है। लेकिन इसका हल न तो जिला प्रशासन निकाल पाया है और न ही ग्रामीणों की बैठक में इसका हल निकला है। आलम यह है कि इस कब्रिस्तान पर कभी भी हिन्दु मुस्लिम विवाद हो जाता है। फोर्स तैनान हो जाती है लेकिन समस्या का समाधान आज तक नहीं हो पाया है। बीते दिन एक बार फिर यहां पर दोनो पक्ष आमने सामने आ गये और गांव में पुलिस बल तैनात करना पड़ा।

दरअसल, मामला बागपत जनपद के फैजपुर निनाना गांव का है। जहां कब्रिस्तान की भूमि पर विवाद है। ग्रामीणों का कहना है कि कब्रिस्तान पर कुछ मनचले खडे़ रहते हैं और वहां से गुजने वाली लड़कियों के साथ छेड़खानी करते हैं। बीते दिन भी वहां पर एक लड़की के साथ हुई छेड़खानी के बाद मामला तूल पकड़ गया और दोनो पक्ष आमने सामने आ गये। मामला थाने पहुंचा तो पुलिस ने पीडित लडकी पक्ष के ही तीन लोगों को हिरासत में ले लिया जिसके बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गये और कोतवाली पर जमकर हंगामा किया जिसके बाद पुलिस ने हिरासत में लिये गये लोगों को छोड दिया। पुलिस की एक पक्षीय कारवाई से ग्रामीणों का पारा सातवंे आसमान पर पहुंच गया और ग्रामीणों ने इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक से करते हुए कारवाई की मांग की है। वही मौके पर पहुंचे सीओं दिलीप सिंह ने गांव में सुरक्षा व्यवस्था बढाते हुए मामले की जांच के आदेश दे दिये है। वही कुछ लोगों का कहना है कि गांव में कब्रिस्तान की भूमि को लेकर विवाद है जिसको छेडखानी में बदलने का प्रयास किया जा रहा है। एसपी शैलेश कुमार का कहना है कि पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। असामजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कारवाई की जायेगी। रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top