बागपत में पिछले दस साल में 146 अपहरण, छह फिरौती

बागपत में पिछले दस साल में 146 अपहरण, छह फिरौती

बागपत। उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में पिछले दस साल में 146 अपहरण तथा छह फिरौती के मामले प्रकाश में आए हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर को पहले अपराध की राजधानी कहा जाता था लेकिन पिछले कुछ सालों से हो रही अपहरण और लूट की घटनाओं में बागपत ने मुजफ्फनगर को पीछे छोड़ दिया है।
हालांकि, इस वर्ष कुछ हद तक अपराधों पर अंकुश लगा है। कई इनामियों को भी सलाखों के पीछे पहुंचाया गया है। सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत मांगी गयी रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2006 से 2016 तक 146 अपहरण तथा छह फिरौती के मामले प्रकाश में आये हैं।
आरटीआई कार्यकर्ता एवं अधिवक्ता पवन कुमार तिवारी ने बताया कि वर्ष 2006 से लेकर 2016 तक बागपत में हुए अपहरण तथा फिरौती के मामलों का ब्योरा सूचना अधिकार के तहत मांगा गया था। पुलिस द्वारा उपलब्ध कराई रिपोर्ट के अनुसार पिछले दस वर्षों में बागपत के विभिन्न थानों में दर्ज फिरौती के छह मामले दर्ज हुए थे।
इसमें से चार अपराधियों को पुलिस ने धर दबोचा था। सबसे अधिक अपहरण के मामले वर्ष 2015 में हुये। अपर पुलिस अधीक्षक अजय कुमार का कहना है कि बागपत में अधिकतर प्रेम प्रसंग के चलते अपहरण के मामले प्रकाश में आये हैं। पुलिस का प्रयास रहता है कि अधिकतर गायब लोगों को बरामद कर लिया जाए। पिछले कुछ समय से बागपत में अपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगा है।

Share it
Top