नाव हादसा :एसडीएम कर रहे मजिस्ट्रेटी जांच का इंतजार

नाव हादसा :एसडीएम कर रहे मजिस्ट्रेटी जांच का इंतजार

बागपत। नाव हादसे को बागपत प्रशासन कितनी गंभीरता से ले रहा है, इसकी सच्चाई फिर सामने आई है। मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए तीन दिन हो चुके हैं मगर एसडीएम को अब तक लिखित में कुछ नहीं मिला है। लिखित आदेश कहां गया, इसका जवाब किसी के पास नहीं। आईजी रामकुमार ने भी घटना के समय आकर किसी के खिलाफ कार्रवाई न होने देने का आश्वासन दिया था| उनका आश्वासन भी बेईमानी सबित हो रहा है।
काठा गांव के नाव हादसे के बाद पुलिस व प्रशासन की भी किरकिरी हुई थी। प्रशासन उस समय दोषियों पर कार्रवाई की बात कह रहा था मगर तीन दिन बीतने के बाद किसी गाज नहीं गिरी। तीन दिन पूर्व ही डीएम ने मामले की मजिस्ट्रेटी जांच एसडीएम बागपत विवेक कुमार यादव को सौंप दी थी। अब तक मजिस्ट्रेटी जांच करने के लिखित आदेश की कॉपी एसडीएम के पास नहीं पहुंच सकी है। एसडीएम जांच शुरु करने का दावा जरूर कर रहे हैं, किसी नतीजे पर पहुंचने की बात नहीं बता रहे। एसडीएम का कहना है कि उन्हें सिर्फ मौखिक तौर पर जांच के लिए कहा गया है। उनके पास अभी तक लिखित में आदेश नहीं आया है। डीएम से इस बारे में संपर्क करने की कोशिश की मगर बात नहीं हो सकी।
आईजी रामकुमार भी काठा गांव में घटना के वक्त पहुंचे थे| उन्होंने आश्वस्त किया गया था कि किसी भी ग्रामीण के खिलाफ कोई पुलिस कारवाई नहीं होगी| सके बाद भी 50 से अधिक लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। प्रशासन के आश्वासन और बाद में मुकरने की घटनाओं से अधिकारियों और जनता के बीच विश्वास की डोर टूटने लगी है। जिसका असर आने वाले समय में दोनों को झेलना पड़ सकता है।

Share it
Top