बागपत में भी सिपाही की हत्या

बागपत में भी सिपाही की हत्या

बागपत। उत्तर प्रदेश में बागपत कोतवाली क्षेत्र के फैजपुर निनाना गांव में बदमाशों ने एक युवक की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि बागपत फैजपुर निनाना निवासी 28 वर्षीय संदीप उर्फ पट्टू पुत्र शौकीन पाल शनिवार देर रात्रि अपने घेर की छत पर सोया हुआ था। देर रात्रि घेर में घुसे बदमाशों ने पहले विद्युत कनेक्शन काट दिया और अंधेरा होते ही उस पर ताबड़तोड़ गोलियों चला दी। उसने भागने का प्रयास किया तो बदमाशों ने भागते समय पीछे से भी उसको गोली मारी। सीढ़ी के रास्ते मकान के आंगन में पहुंचने पर वह गिर गया और उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक की मां सतवीरी से बताया कि उनका घर व घेर अलग-अलग हैं। प्रतिदिन की तरह बेटा संदीप घेर में सोया हुआ था। एक बजे घेर के पास गोली चलने की आवाज सुनाई दी। पड़ोस के लोगों ने उसको सूचना दी तो वह घेर में पहुंची, तब संदीप खून से लथपथ हालत में मृत पड़ा था। उसने अज्ञात बदमाशों पर हत्या करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं मृतक के बाबा अजब
सिंह ने बताया कि गांव में 16 अगस्त 2008 को किसान राजवीर सिंह की हत्या कर दी गई थी। इस केस में उसका पोता संदीप गवाह था। हत्या में शामिल पांच आरोपियों को वर्ष 2008 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी, जो फिलहाल बागपत जेल में बंद हैं। आरोपी, संदीप से रंजिश रखते थे। संदीप का यूपी पुलिस में सिपाही पद पर भर्ती 2015 में चयन हो गया था। गत 19 जून को उसका मेडिकल हुआ था। उसकी एक जुलाई को जॉइनिंग होनी थी। सजायाफ्ता एक आरोपी को यह नागवार गुजर रहा था। उसने संदीप के शैक्षिक प्रमाण पत्रों को फर्जी बताते हुए गलत तरीके से नौकरी पाने की अफसरों से शिकायत भी की थी। घटना की सूचना पर पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश, एएसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव और कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस को मौके से तीन खोखे बरामद हुए हैं। एएसपी का कहना है कि संदीप की हत्या के मामले में हर बिंदू पर जांच की जा रही है। हत्या किसने और क्यों की हैं, इसका जल्द ही पता लगाकर घटना का खुलासा कर दिया जायेगा।

Share it
Top