शाहजहांपुर:परौर थानाध्यक्ष समेत तीन पुलिस कर्मी निलम्बित

शाहजहांपुर:परौर थानाध्यक्ष समेत तीन पुलिस कर्मी निलम्बित



कार्यवाही न होने दुष्कर्म पीड़ित महिला ने आग लगाकर की थी खुदकुशी, आरोपी गिरफ्तार

शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश में शाहजहांपुर जिले के परौर थाना क्षेत्र में पुलिस कार्रवाई न होने और बदनामी के डर से दुष्कर्म पीड़ित महिला द्वारा आग लगाकर आत्महत्या कर लेने के मामले में पुलिस ने आरोपी कथित झोलाछाप डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके साथ ही एसपी एस चनप्पा ने मामले में लापरवाही बरतने पर परौर थानाध्यक्ष समेत तीन पुलिस कर्मियों को भी निलम्बित कर दिया है।

पुलिस अधीक्षक एस चनप्पा ने शुक्रवार को बताया कि परौर थाना क्षेत्र के ग्राम सोहड़ निवासी रामवीर की पत्नी ने बीते बुधवार को आग लगा ली थी । इस दौरान महिला का छोटा बच्चा भी आग में झुलस गया था । परिजनों ने गम्भीर रूप से घायल महिला और उसके बेटे को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया था। जहां गुरुवार शाम इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई, जबकि उसके बेटे का इलाज जिला अस्पताल में अभी चल रहा है । पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था।

मृतक महिला के पति रामवीर ने कथित झोलाछाप डॉक्टर विनय कुमार कुशवाहा पर उसकी पत्नी के साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी थी। जिस पर पुलिस ने आरोपी झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर उसकी की तलाश शुरू कर दी थी।

श्री चनप्पा ने बताया कि पुलिस द्वारा आरोपी विनय कुमार कुशवाहा को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले लापरवाही बरतने तथा तत्काल एफआईआर दर्ज न करने पर परौर थानाध्यक्ष सुभाष कुमार तथा दो उपनिरीक्षकों को भी निलंबित कर दिया गया है। साथ ही उक्त पुलिस कर्मियों के विरुद्ध आईपीसी की धारा 166 (ए) के तहत मामला दर्ज कर कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस मामले से जुड़े और जो अन्य लोग हैं उनकी भी भूमिका का पता लगाया जा रहा है। गांव के वह लोगों जिन्होंने मृतक महिला पर दवाब बनाकर राजीनामा कराने का प्रयास किया था उनके विरुद्ध भी कार्यवाही की जाएगी, उक्त मामले की जांच जारी है जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही की जाएगी।

Share it
Share it
Share it
Top