शाहजहांपुर: सपा जिलाध्यक्ष के ममेरे भाई की गोली मार कर हत्या, दो हमलावरों की भी गोली लगने से मौत

शाहजहांपुर: सपा जिलाध्यक्ष के ममेरे भाई की गोली मार कर हत्या, दो हमलावरों की भी गोली लगने से मौत



दो हमलावरों की भी गोली लगने से मौत

शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश में शाहजहांपुर जिले का सदर बाजार थाना क्षेत्र गुरुवार रात गोलियों की तड़तड़ाहट से उस समय गूंज उठा, जब सपा जिलाध्यक्ष के ममेरे भाई की गोली मार कर हत्या कर दी गई, जबकि गोली लगने से दूसरे पक्ष से दो सगे भाइयों समेत तीन लोग घायल हो गए। सभी घायलों को अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने दोनों सगे भाइयों को भी मृत घोषित कर दिया तथा घायल युवक की हालत को देखते हुए उसे लखनऊ रेफर कर दिया है। घटना से जहां इलाके में दहशत फैल गई वहीं पुलिस विभाग में भी हड़कम्प मच गया। देर रात बरेली रेंज के आईजी डीके ठाकुर ने पुलिस अधीक्षक एस चनप्पा, एसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी के साथ मौका मुआयना किया और परिजनों से पूछताछ की। फिलहाल पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजते हुए मामले की पड़ताल शुरु कर दी है।

बरेली रेंज के आईजी डीके ठाकुर बताया कि सदर बाजार थाना क्षेत्र स्थित आवास विकास कालोनी निवासी इमरान(35), इसरार(45), राहुल उर्फ सोनू(30) तथा इसी कालोनी निवासी मुशीर(35) के बीच देर रात लगभग आठ बजे किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। इसके बाद दोनों पक्षों के बीच हुई गोलाबारी में सर में गोली लगने से मुशीर की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि इमरान,इसरार तथा राहुल उर्फ सोनू गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गये। सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया जहां डॉक्टरों ने इमरान व इसरार को भी मृत घोषित कर दिया। राहुल की चिंताजनक हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने उसे लखनऊ रेफर कर दिया है।

सपा जिलाध्यक्ष तनवीर खां ने बताया कि मृतक मुशीर उनके सगे मामा का लड़का था। इसरार व इमरान उससे रंजिश रखते थे बुधवार रात भी इसरार आदि उसके घर पर आए और जान से मारने की धमकी दी, लेकिन मुशीर ने मामले को हल्के में लेते हुए धमकी पर ध्यान नहीं दिया। इसके बाद गुरुवार रात घर के करीब नेहरू मांटेसरी स्कूल के पास इसरार, इमरान ने अपने साथियों के साथ मिलकर मुशीर को घेर लिया और गोली मार कर उसकी हत्या कर दी।

वहीं, मृतक मुशीर की पत्नी परवीन ने कई नामजद तथा अज्ञात लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। उन्होंने बताया कि इसरार और उसका परिजन उनके पति से रंजिश मानते थे। गुरुवार रात इसरार ने अपने भाइयों और कई साथियों के साथ मिलकर उनके घर पर धावा बोल दिया। हमलावरों को देखते ही पति बचने के लिए भाग खड़े हुए। घर से कुछ दूरी पर इसरार ने अपने भाइयों और साथियों के साथ मिलकर रास्ते मे उन्हें घेर लिया और उन पर फायरिंग शुरू कर दी। वहीं हमलावरों की तरफ से हुई फायरिंग से बचने के लिए उनके पति ने भी फायर किए। हमलावरों की तरफ से हुई फायरिंग में गोली लगने से उनके पति की मौत हो गई। उधर देर रात तक मामले में दूसरे पक्ष की तरफ से न तो कोई तहरीर दी गई है और न ही कोई कुछ बताने को तैयार है।


Share it
Share it
Share it
Top