10वीं का पेपर देने के बाद पिता-भाई को दी मुखाग्नि, उस बेटी ने हासिल किए 92.4% अंक

10वीं का पेपर देने के बाद पिता-भाई को दी मुखाग्नि, उस बेटी ने हासिल किए 92.4%  अंक

गाजियाबाद के कवि नगर थाने में इसी साल मार्च में एक ऐसा दर्दनाक हादसा हुआ था, जिसे आज भी अगर वहां के लोग याद करें तो उनका जहन सिहर उठेगा। इस साल 6 मार्च की देर रात एक बाइक सवार को एक वाहन ने टक्कर मार दी थी, जिसमें एक बाप-बेटे की मौत हो गई।

आपको जानकर हैरानी होगी की इसी घर की एक बेटी ने अगले दिन यानि 7 मार्च को सीबीएसई बोर्ड एग्जाम दिया। आज इसी बेटी का 10वीं का रिजल्ट आया, जिसने 92.4 फीसदी अंक हासिल कर दूसरों के लिए मिसाल बन गई। घर की इस बेटी ने 7 मार्च को एग्जाम देने के बाद अपने भाई-पिता को मुखाग्नि दी थी।

गाजियाबाद के कवि नगर के अवंतिका जेपीवी अपार्टमेंट में रविंद्र सागर (46) अपने बेटे गर्वित (10) और बेटी टीया के साथ रहते थे। 6 मार्च को गर्वित का 6th क्लास का रिजल्‍ट आया था। इस रिजल्ट में गर्वित ने स्कूल में सेकंड पॉजीशन प्राप्त किया था। अपने रिजल्ट से खुश होकर गर्वित ने पार्टी की जिद्द की।

अपने बेटे की जिद्द के कारण रविंद्र उसे पार्टी देने के लिए होटल ले गया। इस दौरान जब वह घर से लौट रहे थे, तभी पेट्रोल पंप के पास तेज गति से आ रही कार ने रविंद्र की बाइक को टक्कर मार दी। इस हादसे में रविंद्र की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, गर्वित गंभीर रूप से घायल हो गया था, जहां उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां उसने अपना दम तोड़ दिया। इस हादसे के अगले ही दिन टीया का पेपर था। टीया ने अगले दिन पेपर दिया और पेपर देने के बाद उसने अपने भाई और पिता को मुखाग्नि दी।

टीया का 6 मई को रिजल्टा आया, जिसमें उसने 92.4 अंक हासिल किए। अपने इतने अच्छे अंक देखकर टीया का खुशी का ठिकाना नहीं रहा। आखिरकार टीया की मेहनत रंग लाई। इस मामले में टीया का कहना है कि वह आगे जाकर अपने पिता के सपनों को साकार करेगी।

Share it
Top