ग्राम पंचायत अधिकारी भर्ती परीक्षा में ठगी, 7 थमे...बागपत के बडौत से हुई आरोपियों की गिरफ्तारी

ग्राम पंचायत अधिकारी भर्ती परीक्षा में ठगी, 7 थमे...बागपत के बडौत से हुई आरोपियों की गिरफ्तारी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने ग्राम पंचायत अधिकारी भर्ती परीक्षा में उत्तर पुस्तिका बदलकर ठगी करने वाले गिरोह के 7 सदस्यों को बागपत जिले के बड़ौत से गिरफ्तार किया है। एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर मेरठ इलाके की एसटीएफ की टीम ने बुधवार को बागपत जिले के बड़ौत बस अड्डे के पास से ग्राम पंचायत अधिकारी भर्ती परीक्षा में उत्तर पुस्तिका बदलकर अभ्यर्थियों मोटी रकम ठगने वाले गिरोह के 7 सदस्यों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार लोगों में एजेंण्ट वाजिदपुर निवासी अनुज, बडौत निवासी शहवान उर्फ सावन, ढिकौली निवासी दिनेश कुमार के अलावा साल्वर बालेनी निवासी सचिन कुमार और अजय के अलावा कानपुर के कल्याणपुर इलाका का रहने वाला एजेंट जितेन्द्र कुमार और भूपेन्द्र कुमार शामिल है। उन्होंने बताया कि इनके अलावा

गिरोह के फरार चार सदस्यों में बडौत निवासी विजय तोमर उर्फ नीटू, मेरठ के ककंरखेड़ा निवासी अंकित पुनिया, सोनीपत हरियाणा निवासी कुलदीप उर्फ छोटू और फतेहपुर निवासी बालकृष्ण मिश्रा शामिल हैं। इन लोगों की तलाश की जा रही है। पकड़े गये लोगों के पास से 17 ब्लैंक चैक, आठ उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, लखनऊ द्वारा आयोजित ग्राम विकास अधिकारी परीक्षा के प्रवेश पत्र। छह हाईस्कूल की मार्कशीट, छह अदद इण्टरमीडिएट की मार्कशीट, तीन हाईस्कूल की सनद, आधर कार्ड, पैन कार्ड के अलावा शहरी विकास मंत्रालय का पहचान पत्र, आठ मोबाइल फोन और एक कार बरामद की गई है। श्री सिंह ने बताया कि गिरफ्तार जितेन्द्र कुमार एवं भूपेन्द्र कुमार ने पूछताछ पर बताया कि ये लोग ग्राम पंचायत अधिकारी भर्ती परीक्षा कराने में अभ्यथियों के कागजात एवं मोटी रकम प्राप्त कर जनपद फतेहपुर के रहने वाले शिक्षामित्र बालकृष्ण मिश्रा, जो इनका दोस्त है, को अभ्यर्थियों के कागजात उपलब्ध कराते हैं। बालकृष्ण की सैटिंग सचिवालय में है, उसके द्वारा ही भर्ती कराने का ठेका दिया जाता है। आज हम दोनों भाई अभ्यर्थियों से कागजात इक_ा करने आये थे कि पकड़े गये। इसके अतिरिक्त सचिन, एवं अजय साल्वर हैं तथा दिनेश, अनुज, शहवान, विजय तोमर उर्फ नीटू, अंकित पुनिया इससे पूर्व भी परीक्षा कराने में जेल जा चुका है। उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में गिरफ्तार आरोपियों को बड़ौत कोतवाली में दाखिल करा दिया गया है। आगे की कार्रवाई स्थानीय पुलिस करेगी। गौरतलब है कि एसटीएफ ने इसके पहले इसी तरह की ठगी करने वाले 22 आरोपियों को प्रदेश के अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार किया था। रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top