शिवपाल का बयान...चाहता तो मैं 2००3 और 2०12 में मुख्यमंत्री बन जाता

शिवपाल का बयान...चाहता तो मैं 2००3 और 2०12 में मुख्यमंत्री बन जाता

लखनऊ। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा है कि अगर वह चाहते तो 2००3 और 2०12 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बन सकते थे, लेकिन उन्होंने त्याग किया और पद नहीं लिया। प्रसपा अध्यक्ष ने रविवार को यहां 51 दलों के नेताओं के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने महात्मा गांधी, राम मनोहर लोहिया और जयप्रकाश नारायण का नाम लेते हुए कहा कि इन महान लोगों ने कभी पद की कामना नहीं की। उन्होंने कहा कि अगर मैं चाहता तो 2००3 में मुख्यमंत्री बन सकता था। उस वक्त मेरे साथ 147 विधायक थे। 2०12 में भी यही स्थिति थी, लेकिन मैं मुख्यमंत्री नहीं बना। श्री यादव ने कहा कि लोग कहते हैं कि मेरे साथ धोखा हुआ, लेकिन मैंने उससे सबक लिया है। उन्होंने कहा कि समाज और देशहित के बारे में हम सभी को सोचना और सत्ता परिवर्तन के बाद व्यवस्था में बदलाव करना होगा। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाया और कहा कि न तो अच्छे दिन आये और न ही लोगों के खाते में 15-15 लाख रुपये ही जमा हुए। उल्टे नोटबंदी से लोग परेशान हुए और बेरोजगारी बढ़ी।

Share it
Top