दो तस्कर गिरफ्तार, 180 किलो 700 ग्राम गांजा बरामद

दो तस्कर गिरफ्तार, 180 किलो 700 ग्राम गांजा बरामद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की इलाहाबाद फील्ड इकाई ने आज मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 180 किलो 700 ग्राम गांजा बरामद किया है। बरामद गांजे की कीमत लाखों रुपये आंकी गई है । एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने यहां बताया कि काफी समय से आन्ध्र प्रदेश, उड़ीसा एवं बिहार से मादक पदार्थो की तस्करी करने वाले गिरोहों के सक्रिय होने की सूचना प्राप्त हो रही थी। इस सम्बंध में इलाहाबाद एसटीएफ के अपर पुलिस अधीक्षक प्रवीन सिंह चौहान ने सूचना संकलन के लिए उप निरीक्षक अजय कुमार सिंह के नेतृत्व में एक टीम को लगाया । उन्होंने बताया कि इस बीच सूचना प्राप्त हुई कि छत्तीसगढ़ से कुछ तस्कर अवैध सामान लेकर इलाहाबाद के सोरांव हाइवे पर लूसनपुर के पास आने वाले हैं। एसटीएफ ने आज अपराह्न सोरांव पुलिस को साथ लेकर बताये गये स्थान पर पहुंची तो वहां पुल के नीचे एक पिकअप वाहन खडा दिखाई दिया और उसमें बैठे दो व्यक्ति किसी का इन्तजार कर रहे थे। श्री पाठक ने बताया कि पुलिस टीम को देखकर दोनो व्यक्ति गाड़ी से कूदकर भागने लगे। इस पर तत्परता दिखाते हुए पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से 180 किलो 700 ग्राम गांजा , दो मोबाइल फोन, एक आधार कार्ड, एक ड्राइविंग लासेंस तथा 1260 रुपये बरामद किये गये। बरामद गांजा को वाहन में बनाई गयी गुप्त कैविटी में 03 से 04 किग्रा के पैकेट्स में छुपाकर रखा गया था। पकड़े गये तस्कर प्रतापगढ़ निवासी शाहिद और बलिराम यादव हैं। पूछताछ पर उन लोगों ने बताया कि वह पिछले पांच साल से गांजे के तस्करी का कार्य प्रतापगढ़ जिले के मान्धाता निवासी रमेश पटेल के लिए कार्य कर रहे हैं। उसने बताया कि रमेश उड़ीसा राज्य के जगदलपुर जिले के रोशन नामक व्यक्ति से 5,000 रुपये किलो गांजा खरीद कर यहां 20,000 किलो के हिसाब से बेचता है। बरामद गाड़ी रमेश पटेल की है, जिसने केबिन (कैविटी) बिहार से बनवाया था। शाहिदने बताया कि माल लेने के लिए उड़ीसा जाने पर उसे हर चक्कर 10,000 मिलता है और इतना ही रूपया उसके साथ जाने वाले को भी मिलता है। उसने बताया कि महीने में वह तीन से चार चक्कर लगाता है। बदमाशों ने बताया कि रमेश पटेल माल को इलाहाबाद, प्रतापगढ़, जौनपुर, सुलतानपुर एवं अमेठी के भांग के दुकानदारों को माल सप्लाई करता है तथा अपना व्यापार हमेशा बैंक के माध्यम से करता है। माल लाने के पहले ही पैसा उड़ीसा के व्यवसाइयों के खाते में जमा करा दिया जाता है। वे लोग जैसे ही उड़ीसा पहुंचते हैं, रोशन उनसे गाड़ी ले लेता है तथा उस पर माल लाकर दो-तीन घन्टे में गाड़ी वापस दे देता है और वे वहां से लाकर रमेश पटेल को दे देते हैं। उन्होंने बताया कि इलाहाबाद के सोरांव थाने में एनडीपीएस आदि के तहत मुदकमा दर्ज कर गिरफ्तार गांजा तस्करों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

Share it
Share it
Share it
Top