विरोध के बाद बदला सांसद हेमामालिनी का कार्यक्रम स्थल

विरोध के बाद बदला सांसद हेमामालिनी का कार्यक्रम स्थल

मथुरा। उत्तर प्रदेश में माथुर चतुर्वेद परिषद के विरोध के बाद सांसद हेमामालिनी के दो दिवसीय कार्यक्रम स्थल को बदल दिया गया है।यह कार्यक्रम उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग एवं ब्रज तीर्थ विकास परिषद उत्तर प्रदेश के सहयोग से सिने तारिका से राजनीतिज्ञ बनी हेमामालिनी द्वारा 23 एवं 24 फरवरी को विश्राम घाट मथुरा के सामने यमुना के दूसरी ओर आयोजित होना था। माथुर चतुर्वेद परिषद ने समय से उच्च न्यायालय एवं ग्रीन ट्रिबनल के आदेशों का हवाला देते हुए आयोजकों को असहज स्थिति में पडऩे से भले बचा
लिया, लेकिन आयोजकों ने इसे कार्यक्रम में अवरोध मानते हुए इसको दीनदयाल वेटेरिनरी विश्वविद्यालय मथुरा में कराने का निश्चय किया है। चतुर्वेद परिषद के संरक्षक महेश पाठक ने कहा कि न्यायालय के आदेश के अनुसार यमुना से 5०० मीटर के दायरे में कोई भी कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जा सकता है तथा इस मामले में दो अधिकारियों पर जुर्माना भी हो चुका है। श्री पाठक ने कहा कि इस संबंध में एनजीटी में डाली गई याचिका से अब हेमामालिनी का नाम हटा दिया जाएगा ले किन याचिका के लिए निर्धारित 23 फरवरी को यमुना के उस पार आयोजन के लिए सैकड़ों ट्रक डाले गए मलबे को हटाने और मूल स्वरूप को बरकरार करने की प्रार्थना जरूर की जाएगी। परिषद के संरक्षक एवं अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश पाठक ने कहा कि यदि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 23 फरवरी को विश्रामघाट पर पारम्परिक आरती एवं दीपदान में भाग लेते हैं तो उनका स्वागत किया जाएगा। परिषद को इस बात पर भी एतराज नहीं है कि यमुना के विश्राम घाट साइड की तरफ लाइट एण्ड साउन्ड सिस्टम के साथ कृष्ण थीम का लेजर शो होता है एवं 18० नावों को सजाया जाता है तथा ब्रज की होली होती है। उधर सांसद हेमामालिनी ने कहा कि वेटेरिनरी कालेज में कार्यक्रम होने से यमुना जल एवं घाटों में होने वाला कार्यक्रम नहीं होगा, लेकिन पण्डित जसराज, पण्डित हरिप्रसाद चौरसिया, कैलाश खेर, शोभना, कविता सेठ आदि की प्रस्तुतियों से संबंधित शास्त्रीय संगीत समेत अन्य कार्यक्रम अवश्य होंगे। ब्रज की होली इस कार्यक्रम की मुख्य थीम होगी।

Share it
Top