उन्नाव बलात्कार पीडिता को मिली एम्स से छुट्टी... दिल्ली में ही रहेंगे पीडिता और उसका परिवार

उन्नाव बलात्कार पीडिता को मिली एम्स से छुट्टी... दिल्ली में ही रहेंगे पीडिता और उसका परिवार

नई दिल्ली। उन्नाव बलात्कार पीडिता को उपचार के बाद अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) से छुट्टी दे दी गई है और पीडिता एवं उसका परिवार फिलहाल दिल्ली में ही रहेगा। पीडिता को मंगलवार को एम्स से डिस्चार्ज किया गया। तीस हजारी अदालत ने पीडिता के परिवार को दिल्ली में ही रहने के निर्देश दिए हैं। अदालत के निर्देश को देखते हुए पीडिता परिवार के साथ अगले एक सप्ताह तक एम्स के जय प्रकाश नारायण ट्रामा सेंटर के हास्टल में रहेगी। हास्टल में पीडिता के साथ उसकी मां, दो बहनें और भाई भी रहेंगे। पीडिता के परिवार वालों ने अदालत से गुहार लगाई थी कि गांव में उनकी जान को खतरा है तथा सुरक्षा के मद्देनजर वह दिल्ली में ही रहना चाहते हैं। अदालत ने पीडिता के परिवार के अनुरोध पर उन्हें दिल्ली में रहने का निर्देश दिया। मामले की अगली सुनवाई 28 सितंबर को होगी। उन्नाव जिले की बांगरपुर विधानसभा सीट से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर इस मामले में मुख्य आरोपी हैं। सेंगर पर आरोप है कि पीडिता जब नाबालिग थी, उस समय उसके साथ बलात्कार किया गया। सेंगर पर इस मामले में आरोप पत्र दाखिल किया जा चुका है और शशि सिंह इस मामले में सह अभियुक्त है। उत्तर प्रदेश के इस बहुचर्चित कांड में पीडिता उस समय गंभीर रुप से घायल हो गई थी, जब उसकी कार को ट्रक ने टक्कर मार दी थी। यह घटना 28 जुलाई को हुई थी। इस हादसे में पीडिता की चाची और मौसी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी, जबकि वह और उसका वकील गंभीर रुप से घायल हो गए थे। इस हादसे के बाद पहले पीडिता का इलाज लखनऊ में हुआ, किंतु बाद में उच्चतम न्यायालय के निर्देश के बाद पीडिता और वकील को उपचार के लिए एम्स लाया गया। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) इसे मामले की जांच कर रही है।

Share it
Top