आनंदीबेन ने किया पोलियो की तरह देश को प्रदूषण से मुक्त करने का आह्वान

आनंदीबेन ने किया पोलियो की तरह देश को प्रदूषण से मुक्त करने का आह्वान

बागपत। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने पोलियो की तरह से लोगों से देश और प्रदेश को प्रदूषण से मुक्त करने का आह्वान किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर मंगलवार को यहां गेटवे इंटरनेशनल स्कूल बागपत में आयोजित महायज्ञ में श्रीमती पटेल शामिल हुई और यज्ञ में आहुति डाली। उन्होंने इस मौके पर बरगद का पौधा रोपित कर लोगों को पर्यावरण संरक्षण का भी संदेश दिया। इस मौके पर उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा जिस प्रकार भारत पोलियो से मुक्त हुआ है। उसी तरह हमें प्रदूषण से भी मुक्त होना है, इसके लिए हम सब को आगे आकर काम करना होगा। उन्होंने अधिक से अधिक वृक्ष लगाने और पर्यावरण को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने का लोगों से आह्वान किया। उन्होंने कहा पर्यावरण सही होगा तो बीमारियां भी नहीं आएंगी। उन्होंने बागपत में नौ अगस्त को नौ लाख पौधों का रोपण होने पर जिलावासियों को बधाई दी और उन्हें यह भी संदेश दिया कि जो पौधे रोपित किए गए हैं उनकी देखभाल भी अवश्य करें। राज्यपाल ने कहा जल और भोजन का सदुपयोग करें, जितनी मात्रा की जरूरत है, उतना ही हमें पात्र में लेना चाहिए। किसी भी खाद्य पदार्थ का दुरुपयोग नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा परिवार वालों की स्वयं जिम्मेदारी होनी चाहिए की जन्म के समय हमारा बच्चा कैसा है, किस प्रकार है उसकी परवरिश पर परिवार स्वयं अच्छे से ध्यान दें। उन्होंने कहा कि नौ साल तक के बच्चे में जिस प्रकार के संस्कार डाले जाते हैं। वह बच्चा उसी प्रकार का बन जाता है, इसलिए बच्चे में अच्छे संस्कार के साथ नैतिक शिक्षा भी दी जाए जिससे कि देश का विकास हो और एक नए भारत का निर्माण हो। उन्होंने कहा कि सभी मिलकर देश को स्वच्छ और साफ बनाने में खुद जिम्मेदारी लें, तभी हमारा देश स्वच्छ और स्वस्थ भारत बनेगा। इसके लिए हमें स्वयं आगे आना होगा। अगर देश साफ होगा तो बीमारियां भी नहीं आएंगी। श्रीमती पटेल ने हर-घर इज्जत-घर बनाने और देश की महिलाओं को इज्जत दिलवाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया। इसके बाद निरीक्षण भवन में श्रीमती पटेल ने रोटरी क्लब, एनजीओ, रेड क्रॉस सोसाइटी, जिला क्षय रोग नियंत्रण समिति, लायंस क्लब के जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि एनजीओ, अधिकारी कुपोषित और टीबी से पीडित बच्चों को गोद लें और उनका उपचार कराएं। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुषमा चंद्रा ने बताया की जिले में टीबी की बीमारी से 18 साल तक के 226 बच्चे पीडित हैं। श्रीतमी पटेल ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं। ऐसे में टीवी से पीडित बच्चों को गोद लेकर भविष्य उज्जवल बनाया जाए और एक नया संदेश भी दिया जाए। उन्होंने कहा आज का बच्चा कल का भविष्य है। उन्होंने 18 साल से कम उम्र के 226 बच्चों को टीबी की बीमारी से पीडित होने पर चिंता व्यक्त की और उनकी अच्छे से देखभाल करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह, जिलाधिकारी शकुंतला गौतम, पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेंद्र यादव सहित सभी जनप्रतिनिधि और अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share it
Top