अफवाह फैलाने में संघ अव्वल : अखिलेश

अफवाह फैलाने में संघ अव्वल : अखिलेश

लखनऊ समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अफवाहों के चलते कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ती जा रही है। अफवाहों का मकसद परस्पर अविश्वास को बढ़ाना तथा हिंसा को उकसाना होता है जिसमें सांप्रदायिकता का रंग भी मिला दिया जाता है। इस मामले में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को महारत हासिल है।

श्री यादव ने कहा कि पिछले दिनों भीड़ ने अपने पोते के साथ जा रही दादी की पीट-पीट कर हत्या कर दी। आजमगढ़, बुलंदशहर, गाजियाबाद, सहारनपुर, दनकौर रामपुर, मेरठ, मोदीनगर, अम्बेडकर नगर में भी ऐसी घटनाएं घटी हैं। बच्चा चोर की सिर्फ अफवाहों के चलते भीड़ में फंसकर कई लोग बुरीतरह पिट गए हैं। कुछ जगहों पर तो असामाजिक तत्वों ने अफवाहें फैलाकर लोगों की अपमानित-प्रताड़ित करने का धंधा शुरू कर दिया है। माॅब लिंचिंग की घटनाएं भी इसी अफवाह का दुःखद नतीजा है।

उन्होने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय संस्था माइक्रोसाफ्ट ने 22 देशों में कराये गये सर्वेक्षण में फर्जी खब़रों के मामले में भारत को शीर्ष स्थान दिया है। अफवाहों के कारण भारत की छवि विश्व में खराब हुई है। इससे विश्वसनीयता पर भी आंच आती है।

श्री यादव ने कहा कि कि भाजपा-संघ मिलकर अफवाहों को हवा दे रहे हैं बल्कि प्रशासकीयस्तर पर भी भ्रम फैलाया जा रहा है। राज्य में ढाई साल की भाजपा सरकार युवाओं को रोजगार देने के बजाय उनकी नौकरियां छीनकर उन्हें लाठियों से पीट रही है।

Share it
Top