उन्नाव में चलती ट्रेन से सिपाही ने गंगा में लगायी छलांग

उन्नाव में चलती ट्रेन से सिपाही ने गंगा में लगायी छलांग

उन्नाव/कानपुर। उत्तर प्रदेश में उन्नाव के गंगाघाट क्षेत्र में शनिवार को एक पुलिस कांस्टेबल ने चलती ट्रेन से गंगा में छलांग लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि कानपुर की पुलिस लाइन में तैनात सिपाही अभय सिंह (32) ने चलती ट्रेन में गंगा पुल से छलांग लगा दी। अचानक हुयी इस घटना से हतप्रभ यात्रियों ने शोर मचाया जिसे सुनकर घाट पर मौजूद मल्लाहों ने डूबते हुये सिपाही को नदी से बाहर निकाल लिया।

उन्होने बताया कि मेमू पैसेंजर ट्रेन पर सवार सिपाही कानपुर से अपने लखनऊ स्थित आवास जा रहा था। रेल यात्रियों के मुताबिक मोबाइल फोन पर बात करते हुये सिपाही ट्रेन के दरवाजे पर खड़ा हो गया और गंगा पुल आते ही उसने नदी में छलांग लगा दी।

सूत्रों ने बताया कि सिपाही को अचेतावस्था में कानपुर के उर्सला अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बतायी गयी है।

इस बीच कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव ने बताया कि पुलिस लाइन में तैनात सिपाही ने शुक्रवार को पांच दिनो का अवकाश लिया था और वह अपने घर लखनऊ स्थित बख्शी का तालाब जा रहा था। उन्होने बताया कि घायल सिपाही के भाई विनय कुमार ङ्क्षसह चौहान के अनुसार सिपाही की दो वर्ष पूर्व शादी हुयी थी और उसका आयेदिन अपनी पत्नी से झगड़ा होता रहता था जिससे वह तनाव में रहता है।

उन्होने कहा कि प्रथम ²ष्टया घरेलू कलह के चलते सिपाही द्वारा आत्महत्या का प्रयास करने की बात सामने आ रही है हालांकि उसके होश में आने के बाद सटीक कारणों का पता चल सकेगा। उन्होने कहा कि घटना की जांच के लिये अपर पुलिस अधीक्षक को नियुक्त किया गया है।

गौरतलब है कि गाजियाबाद और बिजनौर में तनाव के चलते शुक्रवार को दो पुलिस कर्मियों ने आत्महत्या कर ली थी जिसे गंभीरता से लेते हुये पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने कल ही पुलिसकर्मियों की काउंसलिंग के लिये मनोचिकित्सक की सलाह लेने के निर्देश पुलिस अधिकारियों को दिये थे।

Share it
Top