बिजली विभाग के दो भ्रष्टाचारी अफसर सस्पेंड...घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया था

बिजली विभाग के दो भ्रष्टाचारी अफसर सस्पेंड...घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया था

महोबा। उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में तैनात दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम के दो वरिष्ठ उपखण्ड अधिकारियों को भ्रष्टाचार एवं रिश्वतखोरी के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। अधीक्षण अभियंता महेंद्र कुमार ने रविवार को यहां बताया कि अप्रैल 2०19 के प्रकरण में एसडीओ मीटर धर्मपाल सिंह और उपखंड अधिकारी चरखारी शत्रुघ्न सिंह ने संयुक्त रूप से एक स्टोन क्रेसर मै. अनुपमा पल्पलाइजर्स का निरीक्षण किया गया था और जांच के बाद करीब 42 लाख का बिल बनाया गया था। आरोप है कि बाद में अधिकारियों ने बिजली बिल को हटाकर चौथाई कर देने की बात कह कर फर्म मालकिन सावित्री देवी के पति से पांच लाख रुपये की घूस ले ली और मीटर के सीलिंग सर्टीफिकेट में एक टिप्पणी अंकित कर मामला सुलटा देने की बात कही थी, लेकिन फर्म के नए बिल में उक्त सुधार होकर न आने पर मामला बिगड़ गया। तब सावित्री देवी ने दोनों अधिकारियों से फोन पर हुई बातचीत की आडियो रिकार्डिंग समेत अन्य साक्ष्यों के साथ प्रकरण की शिकायत सूबे के बिजली मंत्री से की। अधीक्षण अभियंता ने बताया कि घूसखोरी से जुड़ा यह मामला बिजली मंत्री के माध्यम से पावर कारपोरेशन के एमडी के यहां पहुंचा, जिसकी प्रथम दृष्टया जांच में प्रकरण को सही पाया गया। परिणाम स्वरूप जांच के आधार पर दोनों अधिकारियों को शनिवार शाम निलंबित कर दिया गया। गौरतलब है कि महोबा में बिजली विभाग के एक कर्मचारी को दस दिन पहले भ्रष्टाचार निवारण संगठन की टीम ने एक व्यक्ति से पांच हजार रुपये की घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया था।

Share it
Top