पिकप भवन अग्निकांड की जांच करने पहुंची गुजरात की फॉरेंसिक टीम

पिकप भवन अग्निकांड की जांच करने पहुंची गुजरात की फॉरेंसिक टीम


लखनऊ। प्रादेशीय इंडस्ट्रियल एवं इंवेस्टमेंट कॉरपोरेशन ऑफ यूपी लिमिटेड (पिकप भवन) में तीन जुलाई की रात हुए अग्निकांड की जांच करने के लिए रविवार को गुजरात की फॉरेंसिक टीम लखनऊ पहुंची। टीम के साथ यहां के आईजी रेंज एसके भगत, एसएसपी कलानिधि नैथानी, पुलिस अधीक्षक अपराध, चिनहट और विभूतिखण्ड की पुलिस मौजूद हैं।

पिकप भवन में तीन जुलाई की रात संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई थी। मौके पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने आग को बुझाया। इस मामले को गंभीरता से लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एडीजी इंटेलीजेंस एसबी शिरोडकर की अध्यक्षता में तीन सदस्य कमेटी गठित कर 48 घंटे में रिपोर्ट तलब की थी। जांच कमेटी ने अपनी तहकीकात में पाया कि सुनियोजित तरीके से एक व्यक्ति ने एनके सिंह के कमरे में फाइलें एकत्र करके आग लगाने का प्रयास किया जिससे सरकारी संपत्ति व महत्वपूर्ण दस्तावेज जल गए। जांच टीम की रिपोर्ट के मुताबिक साजिश के तहत आग लगाई गई है। पिकप भवन में उप सामान्य प्रबंधक मानव संसाधन ऋचा भार्गव ने अज्ञात लोगों के खिलाफ विभूतिखण्ड में मुकदमा दर्ज कराया है।

इंस्पेक्टर राजीव द्विवेदी का कहना है कि आग लगाने, प्रिवेंशन ऑफ डैमेज टू पब्लिक प्रापर्टी एक्ट और सरकारी काम में बाधा डालने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि जांच कमेटी की रिपोर्ट को आधार बनाकर जांच की जाएगी। इधर रविवार को इस पूरे मामले की जांच के लिए गुजरात की फॉरेंसिक टीम लखनऊ पहुंची है। यहां से जुड़े सभी दस्तावेज की जांच कर रही है। फॉरेंसिक टीम व आईजी रेंज ने कर्मचारियों व अधिकारियों से इस मामले को लेकर पूछताछ की है।


Share it
Top