उत्तर प्रदेश में मानसून की दस्तक, पूर्वांचल में झमाझम बारिश से खिले किसानो के चेहरे

उत्तर प्रदेश में मानसून की दस्तक, पूर्वांचल में झमाझम बारिश से खिले किसानो के चेहरे

लखनऊ पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में शनिवार को हुयी झमाझम बारिश से लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली वहीं किसानो ने धान की फसल के लिये तैयारी शुरू कर दी। गोरखपुर,बलिया,चंदौली और देवरिया समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में देर रात से जारी वर्षा का क्रम दोपहर बाद तक जारी रहा। इस दौरान अधिकतम तापमान में दस डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गयी और मौसम सुहावना हो गया। पहली बारिश में ही हालांकि नगर पालिका और निगमों की पोल खुल गयी जब सीवर उफनाने से गंदा पानी घरों में प्रवेश कर गया और कई इलाके टापू की शक्ल में तब्दील हो गये। सोनभद्र के कोन क्षेत्र में बारिश के बीच बड़ेला नाला उफनाने से उसमें डूब कर एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मृत्यु हो गयी। पुलिस सूत्रों ने बताया कि पोखरिया गांव निवासी जवाहिर भुइयां परिवार के साथ भवनाथपुर जा रहा था कि गऊ पहाड़ी के पास तेज बारिश से बचने के लिये उसने परिवार के साथ बड़ेला नाला के ह्यूम पाइप में शरण ले लिया| थोड़ी देर में नाले में बारिश का पानी इतना तेजी से आया कि बेटी कौशल्या (22) वर्ष, नाती अमित (6) और नन्दनी ( 3) की पानी मे डूबने से मृत्यु हो गयी। लखनऊ स्थित मौसम आंचलिक केन्द्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने कहा कि मानसून ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में दस्तक दे दी है। अगर सिस्टम कमजोर नहीं पडता है तो अगले 48 घंटों में समूचे उत्तर प्रदेश को इसकी गिरफ्त में अाने के आसार है जिससे पश्चिमी क्षेत्रों में भी तेज आंधी और गरज चमक के साथ बारिश होने का अनुमान है।

Share it
Top