यहां अधिकारी पिलाते हैं आगंतुक को पानी...डीपीडीओ कार्यालय कानपुर में ना तो कोई एमटीएस है ना कोई चौकीदार है

यहां अधिकारी पिलाते हैं आगंतुक को पानी...डीपीडीओ कार्यालय कानपुर में ना तो कोई एमटीएस है ना कोई चौकीदार है

कानपुर। देश में किसी भी सरकारी विभाग की कल्पना बगैर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के नहीं की जा सकती, लेकिन उत्तर प्रदेश में कानपुर स्थित रक्षा पेंशन संवितरण कार्यालय (डीपीडीओ) बगैर चपरासी और चौकीदार के काम कर रहा है। यहां के अधिकारी और कर्मचारी आगंतुक की आवभगत खुद ही करने को मजबूर है। पेंशनर फोरम ने रक्षा लेखा नियंत्रक पर विभाग में व्याप्त अनियमितिता और केन्द्र सरकार के निर्देशों की अवहेलना का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत रक्षा सचिव से की है। फोरम के महामंत्री आनंद अवस्थी ने गुरूवार को कहा कि उन्होंने आज रक्षा सचिव को भेजे शिकायती पत्र में लिखा है कि डीपीडीओ कार्यालय कानपुर में ना तो कोई एमटीएस है ना कोई चौकीदार है और ना कोई नियमित सफाई कर्मी एवं माली ही है। यह एक ऐसा कार्यालय है जो पूर्णतया रक्षा लेखा नियंत्रक द्वारा उपेक्षित है। लोगों को उस समय असहजता का अनुभव होता है कि जब कर्मचारी ही नहीं, वरण वहां के अधिकारी हम लोगों को पानी पिलाने तक का कार्य करते हैं। उन्होंने कहा कि स्वतंत्र कार्यालय में चौकीदार की नियुक्ति होती है, जो कार्यालय की चाबी अपने पास में रखता है और रात्रि को कार्यालय की देख-रेख करता है। कार्यालय का क्षेत्रफल लगभग एक एकड़ है, जिसमें चार शौचालय एवं दोमंजिल का कार्यालय है, जहां पर नियमित सफाई के लिये एक सफाई कर्मचारी का होना आवश्यक है। रक्षा लेखा नियंत्रक केंद्र सरकार के आदेशों की अवहेलना करते हुए सुरक्षा व्यवस्था से भी खिलवाड़ कर रहे हैं। श्री अवस्थी ने कहा कि उनके द्वारा पेश तथ्यों की जांच किसी भी स्तर पर करायी जा सकती है। उन्होंने नियंत्रक के खिलाफ कार्यवाही की मांग की।

Share it
Top