अंजू कटियार की गिरफ्तारी को लेकर नाराज अफसरों ने पीसीएस एसोसिएशन की आपात बैठक बुलाई..

अंजू कटियार की गिरफ्तारी को लेकर नाराज अफसरों ने पीसीएस एसोसिएशन की आपात बैठक बुलाई..

यूपी के पीसीएस अफसर इन दिनों बेहद गुस्‍से में हैं। इसका कारण है उत्‍तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार की प्रयागराज में गिरफ्तारी। सूत्रों का कहना है कि नाराज पीसीएस अफसरों ने इस बाबत उत्तर प्रदेश पीसीएस एसोसिएशन ने आज आपात बैठक बुलाई है। साथ ही अंजू की गिरफ्तारी का विरोध भी किया है और रोष भरे शब्‍दों में कहा है कि शासन का अगर यही रवैया रहा तो कोई भी पीसीएस अधिकारी परीक्षा नियंत्रक बनना पसंद नहीं करेगा।

बताते चलें कि अंजू की यह गिरफ्तारी उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित यूपी लोक सेवा आयोग की ओर से भर्तियों को लेकर विवाद बढ़ने के बाद की गयी है। 10768 एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्तियां होनी थीं, इस बीच पेपर लीक हो गया। पेपर लीक मामले में प्रिंटिंग प्रेस मालिक के साथ ही आयोग की परीक्षा नियंत्रक अंजूलता कटियार की गिरफ्तारी भी की गयी। उसके बाद ही पीसीएस मेंस परीक्षा भी टाल दी गयी जो 17 से 21 जून तक होनी थी।

नाराज संघ ने क्‍या कहा-

नाराज पीसीएस संघ ने कहा है कि उनके लखनऊ कार्यालय में पहली जून की शाम 5 बजे बैठक बुलाई गयी है। बैठक में सभी पदाधिकारी व PCS अफ़सर शामिल होंगे। कहा जा रहा है कि अंजू सहित बैठक में दो अन्‍य पीसीएस अफ़सरों के खिलाफ हाल में हुई कार्रवाई पर संघ विरोध दर्ज कराएगा।

बड़े अफसरों से की मुलाकात-

पीसीएस अंजू की गिरफ़्तारी मामले में पीसीएस संघ के पदाधिकारियों ने शासन के बड़े अफ़सरों से मुलाक़ात की है और अपना रोष व्‍यक्‍त किया है।

साइन बोर्ड पर लिखा चिलम-

दूसरी ओर प्रयागराज स्थित आयोग के कार्यालय के मुख्य गेट पर लगे साइन बोर्ड के साथ शुक्रवार को छेड़खानी की गयी और उसमें उत्तर प्रदेश लोक सेवा में 'लोक' की जगह 'चिलम' लिखा गया। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया। माना जा रहा है कि हिरासत में लिए गए आरोपियों का समाजवादी पार्टी (एसपी) से संबंध है।

अखिलेश ने चिलम मंत्री बताया था-

बता दें कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने भाषणों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिलम मंत्री बताया था। यही नहीं अखिलेश ने अपने आवास में हुई तोड़फोड़ के मामले को लेकर योगी पर हमला बोलते हुए एसपी की सरकार बनने पर सीएम आवास से चिलम ढूंढ़ने की बात भी कही थी। पेपर लीक मामले को लेकर आयोग ने फिलहाल आगे भी कुछ परीक्षाएं टालने की बात कही है क्योंकि परीक्षा नियंत्रक की गिरफ्तारी के बाद परीक्षाओं का आयोजन संभव नहीं रह गया है।

एक हजार छात्रों ने किया प्रदर्शन-

शुक्रवार को एक हजार छात्रों ने प्रयागराज स्थित आयोग के बाहर प्रदर्शन किया व परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार के कार्यकाल में हुई भर्तियों को रद करने की।

पीसीएस अफसरों की नाराजगी नई बात नहीं-

उत्तर प्रदेश के पीसीएस अफसरों में नाराजगी पहले से ही चल रही है। वे अपने अधिकारों में कटौती से लेकर भी नाराज हैं। बीते दिनों उन्‍होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर अपनी मांग रखी थी। पहले भी उत्तर प्रदेश सिविल सेवा संघ की प्रशासकीय शाखा के पदाधिकारियों ने बैठक कर प्रदेश के विकास प्राधिकरणों में पीसीएस की जगह आईएएस अफसरों की तैनाती को गलत बताया था और सरकार के इस निर्णय के विरोध का ऐलान किया था। शासन में सचिव पदों पर पीसीएस कोटे को खत्म करने से भी पीसीएस अफसरों की ओर से विसंगति झेलने की बात कही जा रही है। नाराजगी की एक यह भी वजह बताई जा रही है।

पीपीएस अफसर भी हैं नाराज-

दूसरी ओर आयोग से चयनित पीपीएस अफसरों की भी आईपीएस अफसरों व शासन से लगातार नाराजगी चल रही है। बीते दिनों हुई एक बैठक में वेतन व प्रमोशन में विसंगति को दूर करने के साथ ही पीपीएस अफसरों से अभद्रता करने वाले आईपीएस अफसरों के खिलाफ आंदोलन का भी निर्णय लिया गया था।

Share it
Top