यदि विधिक अड़चन नहीं तो रिटायरमेंट के दिन ही हो कर्मचारियों के सभी भुगतानः न्यायालय

यदि विधिक अड़चन नहीं तो रिटायरमेंट के दिन ही हो कर्मचारियों के सभी भुगतानः न्यायालय

प्रयागराजइलाहाबाद उच्च न्यायालय ने कहा है कि कर्मचारी की कोई वैधानिक अड़चन न हो तो सेवा निवृत्ति के दिन ही सेवानिवृत्ति परिलाभों का भुगतान किए जाने का नियम है।

यदि भुगतान में देरी होती है तो कर्मचारी को ब्याज पाने का अधिकार है। इसी के साथ न्यायालय ने एटा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया है कि पांच मई 2009 से 15 मई 2018 तक की अवधि के बकाये पर नौ फीसदी ब्याज का भुगतान किया जाय।

न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा ने संजय उपाध्याय एवं पांच अन्य की याचिका पर सोमवार को यह आदेश दिया।

याची 31 जनवरी 2007 को पुलिस हेड कांस्टेबल पद से सेवा निवृत्त हुआ था और उसे परिलाभों का भुगतान नहीं दिया गया। न्यायालय ने निर्णय लेने का आदेश दिया। अवमानना कार्रवाई के बाद 15 मई 2018 को परिलाभों का भुगतान किया गया। इसके बाद याची ने भुगतान में देरी के कारण 18 फीसदी ब्याज की मांग की थी।

Share it
Top