एसटीएफ को मिली बडी सफलता....बैंक लूट में वांछित एक लाख का ईनामी दबोचा

एसटीएफ को मिली बडी सफलता....बैंक लूट में वांछित एक लाख का ईनामी दबोचा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) के साथ ग्रेटर नोएडा में रविवार को हुई मुठभेड़ में गोण्डा बैंक में 5० लाख रुपये से अधिक की लूट करने वाला बावरिया गिरोह का फरार चल रहा एक लाख रुपये का इनामी बदमाश घायल हो गया,जिसे गिरफ्तार कर लिया। एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने यहां यह जानकारी दी। नोएडा की एसटीएफ की टीम को सूचना मिली कि वर्ष 2०17 अक्टूबर में गोण्डा स्थित इलाहाबाद बैंक में 5० लाख रुपये से अधिक की लूट करने वाला बावरिया गिरोह का वांछित बदमाश बिजुआ उर्फ विजय सिंह अपने साथियों के साथ ग्रेटर नोएडा में एनटीपीसी के पीछे वाली रोड सूरजपुर इलाके में आने वाला है। इस सूचना पर एसटीएफ की टीम बताये गये स्थान पर पहुंच गई और नाकेबंदी कर ली। लगभग ०3.2० बजे सर्विस रोड सूरजपुर, इण्डस्ट्रीयल एरिया मार्ग पर एल जी चौक से आगे दो मोटर साइकिलों पर सवार तीन व्यक्तियों को रोकने का प्रयास किया गया तो उन लोगों ने फायरिंग शुरु कर दी, जिसपर एसटीएफ की टीम ने भी आत्मरक्षार्थ फायर की, जिसमें बिजुआ उर्फ विजय सिंह बावरिया के पैर में गोली लगी। घायल बदमाश को उपचार के लिए अस्पताल भिजवा दिया गया। उन्होंने बताया कि इस मुठभेड में एसटीएफ नोएडा टीम के मुख्य आरक्षी बिजेन्द्र सिंह और आरक्षी रवि कुमार भी घायल हुए हैं, जिन्हें भी उपचार के लिए अस्पताल भिजवाया जा रहा है। मौके से दो उसके दो साथी राकेश और सूरज भाग गये, जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। गिरफ्तार बिजुआ उर्फ विजय के पास से एक तमंचा और कारतूसों के अलावा मोटर साइकिल और पांच मोबाईल फोन बरामद किए गये हैं। श्री सिंह ने बताया कि घायल बदमाश बिजुआ उर्फ विजय सिंह बावरिया ने पूछताछ पर बताया कि वह अलीगढ़ जिले के अकराबाद इलाके के बालूखेडा का मूल निवासी है। वर्तमान में वह छिपकर हैलीमण्डी, पटौदी गुरूग्राम, हरियाणा में रह रहा था। बताया कि अपने साथी समय सिंह उर्फ अशो उर्फ सिब्बो निवासी सिकरा भरतपुर और पटौदी हरियाणा निवासी सतवीर आदि के साथ मिलकर 1० अक्टूबर 2०17 को गोण्डा में इलाहाबाद बैंक की रानीबाजार शाखा में धावा बोलकर बैंक के गार्ड की गोली मारकर हत्या कर दी थी तथा 5० लाख से अधिक रुपया लूट लिया था। इस घटना के सम्बन्ध में गोण्डा शहर कोतवाली पर मुकदमा दर्ज कराया गया था। तभी से यह फरार चल रहा था और इसकी गिरफ्तारी पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। उन्होंने बताया कि इसके अलावा उसने बताया कि इसी साल 12 जनवरी को गौतमबुद्धनगर में एक बडी घटना को अंजाम देने के लिए वह अपने अन्य साथियों समय सिंह उर्फ अशोक उर्फ सिब्बो तथा दीपक और जसमत के साथ आया था, लेकिन आते समय ही पुलिस के साथ मुठभेड हो गई थी और पुलिस ने उसके साथी समय सिंह उर्फ अशोक और दीपक को गिरफ्तार कर लिया था जबकि वह और उसका साथी जसमत अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गया था। इस बदमाश के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं।

Share it
Top