एक करोड की फिरौती के लिये अपहृत बच्चे की हत्या...पुलिस मामले की छानबीन कर रही है

एक करोड की फिरौती के लिये  अपहृत बच्चे की हत्या...पुलिस मामले की छानबीन कर रही है

बरेली। उत्तर प्रदेश में बरेली के नवाबगंज क्षेत्र में एक शादी समारोह से अपहृत शिक्षक के चार साल के बेटे का शव बुधवार रात पुलिस ने बरामद कर लिया है। पुलिस महानिरीक्षक आर.के. पाण्डेय ने गुरूवार को यहां बताया कि पीलीभीत के बीसलपुर क्षेत्र के हाफिजनगर बन्नाही निवासी शिक्षक चंद्रप्रकाश गंगवार गत रविवार रात अपने रिश्तेदार रामकुमार की बेटी की शादी में शामिल होने नवाबगंज परिवार के साथ आया था। बीजामऊ रोड स्थित पुष्पवाटिका बरात घर में कार्यक्रम था। साथ में शिक्षक चंद्रप्रकाश की पत्नी रुचि गंगवार व चार साल का बेटा अग्रिम भी था। उन्होंने बताया कि शादी के दौरान रात में अग्रिम का अपहरण हो गया। सीसी फुटेज देखने के बाद पुलिस ने दियोरिया गांव के सुनील को हिरासत में ले लिया। नवाबगंज पुलिस दो दिन तक सुनील को हिरासत में लेकर पूछताछ करती रही लेकिन, कुछ हासिल नहीं कर सकी। इसके बाद बुधवार सुबह क्राइम ब्रांच ने सुनील को अपने कब्जे में ले लिया। श्री पाण्डेय ने बताया कि पुलिस ने पड़ताल की तो सीसीटीवी फुटेज में पीलीभीत के देवरिया कला का ही इंटर में पढऩे वाला सुनील कुमार पर शक हुआ। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर उसे सोमवार को पकड़कर थाने में बैठा लिया इसके बाद पुलिस ने कुछ ज्यादा कुछ नहीं किया। बुधवार को चंद्र प्रकाश के नंबर पर अनजान नंबर से मैसेज के साथ व्हाट््सएप कॉल आई और उसमें एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगी गई। इसके बाद पुलिस ने सुनील कुमार पर सख्ती की। उसने बताया कि बच्चे का शव यहां से आठ किलोमीटर दूर बिथरी गांव में गन्ने की पतेल के नीचे दबा रखा है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसका शव बरामद किया। सुनील ने पुलिस को बताया कि शिक्षक के बेटे का रात 8:०० बजे अपहरण करने के बाद 38 मिनट में ही आरोपी छात्र ने गला दबाकर हत्या कर दी थी। वह बरात घर से बच्चे को हाथी दिखाने के बहाने बुलाकर लाया था और मोटरसाइकिल पर बैठाकर बिथरी गांव के बाहर हत्या कर बाग के पास खाई डाल दिया था।ऊपर से गन्ना के पत्ते से ढक दिया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

Share it
Top