भाजपा और कांग्रेस धोखेबाज: मायावती... देश की बदहाली के लिये दोनों दलों को जिम्मेदार ठहराया

भाजपा और कांग्रेस धोखेबाज: मायावती... देश की बदहाली के लिये दोनों दलों को जिम्मेदार ठहराया

कानपुर। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को कहा कि देश की बदहाली के लिये जिम्मेदार कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सबक सिखाने के लिये गठबंधन को कसौटी पर परखने की जरूरत है। कानपुर देहात मेें अकबरपुर लोकसभा के अंतर्गत रमईपुर पहुंची सुश्री मायावती ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा को जनता ने खूब मौके दिए, लेकिन दोनों ने आपके साथ ईमानदारी नहीं बरती। सिर्फ और सिर्फ आप को धोखा दिया, इसलिए अब इन्हें मौका देने की जरूरत नहीं है। एक बार गठबंधन को मौका दें, जिससे गठबंधन मजबूत हो सके और भाजपा को जड़ से उखाड़ कर फेंक सके। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिर्फ जुमलेबाजी की है। उन्होंने बेरोजगारों, किसानों, दलितों, पिछड़े वर्गों, मुसलमानों से किए अच्छे दिन के वादे पूरे नहीं किए हैं। भाजपा के छोड़े गए जानवरों ने फसलों को बर्बाद करके रख दिया हैं, जिसको लेकर किसान बेहद परेशान है। गरीब की हालत बहुत खराब हुई है। पिछले लोकसभा चुनाव में अच्छे दिन का वादा और अब सबका साथ और सबका विकास भी एक जुमला बन गया है। बसपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस जिसको भी मौका मिला उसने सिर्फ पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने का काम किया है। बिना किसी तैयारी के लागू नोटबंदी से गरीबी बढ़ी है और देश की अर्थव्यवस्था पर काफी खराब प्रभाव पड़ रहा है। भाजपा की सरकार में देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं है। फिर भी भाजपा के लोग इसे भुनाने में लगे हैं, जबकि आये दिन देश के जवान शहीद हो रहे हैं। कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होने कहा कि भूलकर भी कांग्रेस पर विश्वास मत करना, क्योकि 55 वर्षों से केंद्र और उत्तर प्रदेश में भी कई बार सत्ता में रहने के बाद भी विकास नहीं किया। सिर्फ और सिर्फ गरीबों को धोखा दिया है। कांग्रेस ने भी इसलिए चाहे कांग्रेस हो या भाजपा दोनों का मकसद एक ही है भाजपा ने भी गरीब किसानों के वोट के लेकर झूठे वादे किए। उन्होंने कहा सपा बसपा गठबंधन भाजपा व कांग्रेसी बुरी तरह से डरी हुई है, क्योंकि गठबंधन ने जो भी वादे आप लोगों से किए हैं उन्हें पूरा करने की जिम्मेदारी हमारी है और अगर हम सरकार में आए तो हर माह 6००० हजार रुपये और रोजगार देने का काम करेगी। जितने भी वादे किए हैं उन्हें पूरा करेंगे।

Share it
Top