फिरोजाबाद में चाचा-भतीजे की लड़ाई पर देश की निगाहें

फिरोजाबाद में चाचा-भतीजे की लड़ाई पर देश की निगाहें



फिरोजाबाद। उत्तर प्रदेश में फिरोजाबाद लोकसभा सीट पर कब्जे के लिये चाचा (शिवपाल सिंह यादव) और भतीजा (अक्षय यादव) की आमने सामने की दिलचस्प लड़ाई पर सारे देश की निगाहें टिकी है।

फिरोजाबाद सीट पर यूं तो कुल छह उम्मीदवार चुनाव मैदान में है लेकिन मुख्य मुकाबला गठबंधन से समाजवादी पार्टी के मौजूदा सांसद एवं प्रो रामागोपाल यादव के पुत्र अक्षय यादव और उनके चाचा एवं प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) मुखिया शिवपाल सिंह यादव के बीच है।

चाचा भतीजे की लड़ाई का फायदा उठाने के लिये भाजपा ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ कार्यकर्ता डा चन्द्रसेन जादौन को चुनाव मैदान में उतारा है वहीं आगरा के पूर्व विधायक चौधरी वसीर निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर मुस्लिम वोटों को हथियाने की जुगत में है। जबकि कांग्रेस ने सैफई के प्रतिष्ठित परिवार के सदस्यों के बीच जंग में अपना कोई प्रत्याशी नही उतारा है।

चुनाव प्रचार के आखिरी दिन रविवार को भाजपा,प्रसपा और सपा के बीच एक दूसरे के वोटों में सेंध लगाने की पूरी कोशिश हुयी। प्रसपा उम्मीदवार भाजपा के वोट बैंक में भी सेंध लगाने की कोशिश में जुटे हुये है वहीं कांग्रेस का परम्परागत वोट भी मायावती के बयान के बाद प्रसपा की तरफ झुक चुका है। इसका पूरा फायदा शिवपाल को मिलता दिखाई दे रहा है। भाजपा प्रत्याशी अपने परम्परागत वोटों के साथ ही नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रवाद के नाम पर अपनी मजबूत स्थिति बनाये हुये है। बशर्ते उनके वोट बैंक में किसी भी प्रकार का भीतरघात ना हो।

शिवपाल और उनके समर्थक यह भलीभांति जानते है कि इसी चुनाव परिणाम से उनके राजनैतिक भविष्य का सफर तय होना है। यही कारण है कि चाचा-भतीजे अपनी-अपनी जीत के लिये आखिरी समय तक जोर आजमाईश में लगे रहे। अब उनके भविष्य का फैसला यहां के मतदाताओं द्वारा के भरोसे है।

इस बीच जिला निर्वाचन अधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने कहा है कि जिला प्रशासन निर्भीक एवं निष्पक्ष मतदान के लिये प्रतिबद्व है। सभी बूथों पर सीसीटीवी कैमरों की नजर होगी। किसी भी प्रकार की गड़बड़ी होने पर सख्त कार्यवाही की जायेगी।

जिला निर्वाचन अधिकारी सेल्वा कुमारी जे एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सचिन्द्र पटेल ने बताया कि लोकसभा क्षेत्र में 1240 बूथ बनाये गये है। लोकसभा क्षेत्र को 186 सेक्टर में बांटा गया है। मतदान केन्द्र से 100 मीटर के दायरे में किसी भी प्रकार की अवांछनीय गतिविधि नही होने दी जायेगी। वृद्व एवं असहाय मतदाताओं के लिये मतदान केन्द्र पर भेजने के लिये व्हील चेयर एवं मतदाता एक्सप्रेस की व्यवस्था की गई है। गर्मी के मौसम को देखते हुये स्वास्थ विभाग की टीमें सक्रिय रहेंगी।


Share it
Top