वाराणसी से प्रियंका के नाम की घोषणा सुनने को कांग्रेसी बेकरार

वाराणसी से प्रियंका के नाम की घोषणा सुनने को कांग्रेसी बेकरार

लखनऊ। मौजूदा लोकसभा चुनाव से ठीक पहले सक्रिय राजनीति में कदम रखने वाली गांधी परिवार की पुत्री एवं पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक नगरी वाराणसी से चुनाव मैदान में उतरने की अटकलों को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं की बेचैनी बढ़ती जा रही है। श्रीमती वाड्रा यदि चुनाव मैदान में उतरती हैं तो उनका मुकाबला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से होगा, जिन्होंने वर्ष 2०14 के चुनाव में आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को तीन लाख 37 हजार वोटों के भारी अंतर से हराया था, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय को 75,614 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा था। इस चुनाव में प्रियंका ने अजय राय का प्रचार किया था। कांग्रेस महासचिव के चुनाव लडऩे की अटकलों को हवा देते हुए उनके करीबी विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह ने कहा है कि श्रीमती वाड्रा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ चुनाव लडऩे की इच्छुक हैं, जिसे अब पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की मंजूरी का इंतजार है। श्री सिंह ने शनिवार को कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी श्रीमती वाड्रा का वाराणसी से चुनाव लडऩा लगभग तय हो चुका है। उन्होने खुद भी चुनाव मैदान पर उतरने की इच्छा जाहिर की है। इस बारे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुहर लगना बाकी है, जिसके बाद पहले से तैयार अमेठी और वाराणसी से कांग्रेसी कार्यकर्ता चुनाव प्रचार में जुट जायेंगे। प्रियंका के वाराणसी से चुनाव लडऩे की चर्चा के बीच श्री अजय राय ने कहा कि प्रियंका अगर वाराणसी से चुनाव लड़ती है तो उन्हे कांग्रेस की स्थानीय इकाई का भरपूर समर्थन मिलेगा। कांग्रेस कार्यकर्ता इसके लिये पहले से कमर कस कर तैयार है और इस बारे में सिर्फ कांग्रेस आलाकमान के फैसले का इंतजार है।

Share it
Top