चाकचौबंद इंतजामों के बीच करोड़ो लगायेंगे आस्था की डुबकी

चाकचौबंद इंतजामों के बीच करोड़ो लगायेंगे आस्था की डुबकी

कुंभनगरमौनी अमावस्या के अवसर पर सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजामो के बीच प्रयागराज में करोड़ों श्रद्धालु गंगा,यमुना और अदृश्य सरस्वती के पावन संगम में आस्था की डुबकी लगायेंगे।

कुंभ मेला के दूसरे शाही स्नान पर्व पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं। मेला क्षेत्र को 10 जोन एवं 25 सेक्टर में बांटा गया है। प्रत्येक जोन का प्रभारी अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी को तथा प्रत्येक सेक्टर का प्रभार पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी को दिया गया है।

पुलिस सूत्रों ने शनिवार को बताया कि मेला क्षेत्र में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और पुलिस अधीक्षक के अलावा 50 पुलिस उपाधीक्षक, 13 अपर पुलिस अधीक्षक, 21 सहायक पुलिस अधीक्षक चप्पे चप्पे पर निगाह रखेंगे। इसके अलावा साढे छह हजार से अधिक होमगार्ड जवान श्रद्धालुओं की भीड़ के सैलाब को संभालने का जिम्मा उठायेंगे। इस काम में मेला क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन उनकी मदद करेंगे।

उन्होने बताया कि मेला क्षेत्र में 398 रिक्रूट आरक्षी के साथ 7425 आरक्षी, 756 मुख्य आरक्षी, 696 उपनिरीक्षक व 72 निरीक्षकों की तैनाती की गई है। मेले में बनाए गए 40 थानों पर प्रभारी निरीक्षक स्तर के अधिकारी तथा 58 चौकियां पर उपनिरीक्षक स्तर के अधिकारी तैनात रहेंगे। आपातकाल के लिए 43 फायर स्टेशन व 15 सब-फायर स्टेशनों के साथ 40 फायर वाच टॉवर एवं 96 कंट्रोल वाच टॉवर स्थापित किए गए हैं।

संगम क्षेत्र को झूंसी क्षेत्र से जोडऩे के लिए 17, अरैल को झूंसी से जोडऩे के लिए तीन और फाफामऊ को नगर से जोडऩे के लिए दो पांटून पुल बनाए गए हैं। श्रद्धालुओं को स्नान कराने के लिए संगम एवं संगम प्रसार क्षेत्र सहित 40 स्नान घाट बनाए गए हैं।

सूत्रों ने बताया कि कुंभ मेला क्षेत्र में संदिग्ध व्यक्तियों व वस्तुओं के तलाश के लिए समय-समय पर ऑपरेशन स्वीप चलाया जा रहा है। मेला क्षेत्र में एनडीआरएफ और अर्धसैनिक बलों के जवान संगम क्षेत्र पर पैनी नजर बनाये रखेंगे और किसी भी अप्रिय स्थिति का सामना करने को तैयार रहेंगे। इसके अलावा 2100 वालंटियर्स, प्रशिक्षित कर लगाए जाएंगे तथा एक कंपनी बाढ़ राहत की और लगाई जाएगी।

Share it
Top